थाईलैंड के पूर्व उप प्रधानमंत्री ने चीन के दो सत्रों की प्रशंसा की

2019-03-17 17:06:00

थाईलैंड के पूर्व उप प्रधानमंत्री ने चीन के दो सत्रों की प्रशंसा की

13वें एनपीसी का दूलरा सम्मेलन 15 मार्च को समाप्त हुआ, थाईलैंड के पूर्व उप प्रधानमंत्री यानि थाईलैंड-चीन सांस्कृतिक संवर्धन समिति के अध्यक्ष पिनीज जर्सोम्बैट ने दो सत्रों में गर्म विषयों के बारे में साक्षात्कार दिया और प्रशंसा की।

उन्होंने कहा कि थाईलैंड-चीन सांस्कृतिक संवर्धन समिति के अध्यक्ष के रूप में वे अकसर चीन आते हैं। वे चीन के विकास के साक्षी हैं। वे चीन से जुड़े मामलों पर ध्यान केंद्रित रखते हैं, विशेषकर हर साल के दो सत्रों पर।

उन्होंने जोर देते कहा कि उन्हें एक पट्टी एक मार्ग के विषय पर रुचि भी है। इस साल के चीन की सरकारी रिपोर्ट में कई बार एक पट्टी एक मार्ग के बारे में बात की गई, प्रेस सम्मेलन में विदेशी मीडिया ने भी एक पट्टी एक मार्ग पर भी ध्यान दिया। थाईलैंड एक पट्टी एक मार्ग से संबंधित देश है, इसलिए थाईलैंड इस पर ध्यान देता है। उनके विचार में यह एक महान सुझाव है, जो पूरी दुनिया और सभी देशों के लिए लाभ देता है। सभी देशों के बीच संबंध इस सुझाव के जरिए सुविधाजनक है। वर्तमान में बहुत ज्यादा चीनी कंपनियों ने थाईलैंड में निवेश किया, एक पट्टी एक मार्ग के जरिए चीन और अन्य देशों के उत्पाद पूरे आसियान क्षेत्र और दुनिया भर में बेचे जा सकते हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि चीन की अर्थव्यवस्था का वैश्विक आर्थिक विकास में सक्रिय प्रभाव पड़ता है, पूरी दुनिया के लोग इससे लाभ हासिल कर सकते हैं। चीन एक जिम्मेदार बड़ा देश है, चीन की विदेश नीति का भी विश्व पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है। सभी देश चीन पर भरोसा करते हैं, क्योंकि चीन ने कभी भी दूसरे देश के खिलाफ आक्रमण नहीं किया है। चाहे बड़ा देश हो या छोटा देश चीन हमेशा उनके साथ अच्छे संबंध चाहता है।

इसके अलावा, चीन सरकार ने गरीबी उन्मूलन में भी बड़ी उपलब्धियाँ हासिल की। विश्वास है कि वर्ष 2020 तक चीन में पूरी तरह से गरीबी उन्मूलन का लक्ष्य हासिल हो सकेगा।

(मीरा)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी