ली खछ्यांग की बोआओ फोरम की परिषद के सदस्यों से मुलाकात

2019-03-28 10:44:00

ली खछ्यांग की बोआओ फोरम की परिषद के सदस्यों से मुलाकात

चीन के प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने 27 मार्च को हाईनान प्रांत में एशिया बोआओ फोरम की परिषद के सदस्यों से मुलाकात की।

ली ने कहा कि इस वर्ष के बोआओ फोरम का विषय है "समान नियति, संयुक्त कार्रवाई और सामान्य विकास"। इसका मतलब है कि विभिन्न देशों को एक दूसरे की मदद करनी चाहिये, मामलों के समाधान में आपस में अधिक तालमेल बिठाना चाहिये और समावेशी विकास के सिद्धांत पर डटा रहकर साझा करना चाहिये। ली खछ्यांग ने कहा कि चीन आज भी विश्व में सबसे बड़ा विकासमान देश है। चीन के सामने आधुनिकीकरण साकार करने का लम्बा रास्ता है। हमारा रुख है कि बहुपक्षवाद के अनुसार मानव सभ्यता की विविधता का समादर करना चाहिये और विभिन्न देशों को अपनी स्थितियों के मुताबिक अपना विकास रास्ता चुनने को दिया जाना चाहिये।

संयुक्त राष्ट्र संघ के भूतपूर्व अध्यक्ष बान की मून, फिलीपीन की पूर्व राष्ट्रपति अरोयो और रूस के भूतपूर्व प्रधानमंत्री जुबकोव समेत परिषद सदस्यों ने नये चीन की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ को बधाई प्रकट की। उन्होंने कहा कि बीते 70 सालों में चीन ने मानव के इतिहास में अभूतपूर्व प्रगतियां प्राप्त की हैं। वर्तमान में विश्व में अनिश्चितता, एकतरफावाद और संरक्षणवाद की चुनौतियां उभरती रही हैं। चीन ने संरचनात्मक रुपांतर करने और अधिक तौर पर खुलेपन अपनाने से इस का मुकाबला किया है। बोआओ फोरम दूसरे पक्षों के साथ समान प्रयास कर एशियाई अर्थतंत्र के एकीकरण और विश्व के समान विकास के लिए बुद्धि और शक्ति का योगदान पेश करने को तैयार है।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी