टिप्पणी:यूरोप में फैली "चीन की आशंका" बिल्कुल निराधार है

2019-04-02 18:10:01

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने पिछले हफ्ते अपनी फ्रांस यात्रा के दौरान कहा कि एकजुट और समृद्ध यूरोप से बहुध्रुवीय विश्व के प्रति हमारी उम्मीद के अनुकूल है। गत वर्ष चीन में जर्मन कारोबारों की निर्यात रकम 93 अरब यूरो तक जा पहुंची है, जबकि फ्रांस और इटली की मात्रा 21 और 19 अरब यूरो तक रही। अधिक निर्यात करने के लिए इटली ने एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण में भाग लेने का फैसला किया। लेकिन यह भी चर्चारार्थ है कि यूरोप में चीनी विकास को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया जा रहा है। वास्तव में चीनियों की औसतन जीडीपी सात हजार यूरो रहती है, जबकि यूरोप संघ की औसतन जीडीपी 35 हजार यूरो तक रही है। चीन और यूरोपीय संघ के बीच पर्याप्त अंतर मौजूद है। चीन के प्रति यूरोपीय संघ की चिन्तित रहने की जरूरत नहीं है।

उधर भविष्य में जब चीन अमीर बनेगा, तब एक समृद्ध चीन से डरने की भी जरूरत नहीं रहेगी। बिंगमान के अनुसार आज बहुत से जर्मन कारोबारों की चीन में बिक्री अपने कुल व्यापार के 40 प्रतिशत भाग से अधिक है। इस का मतलब है कि जर्मनी को चीन के आर्थिक विकास का सबसे बड़ा लाभार्थी बना है। उन का कहना है कि हमें अपने द्वार बन्द नहीं करने चाहिये। इसके विपरीत हमें अपने कारोबारों की प्रतिस्पर्धा शक्ति को बढ़ाना चाहिये। हमें डिजिटल तकनीक और परिवहन उद्योग के बुनियादी उपकरणों को जोर देना चाहिये।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी