दूसरा चीन-मध्यपूर्वी यूरोपीय देशों का सांस्कृतिक विरासत मंच उद्घाटित

2019-04-11 16:15:00

दूसरे चीन-मध्यपूर्वी यूरोपीय देशों काे सांस्कृतिक विरासत मंच में अतिथि सामूहिक फोटो खींचते हुए

बोस्निया और हर्जेगोविना के उप गृह मंत्री सवद दज़फिक ने भाषण देते हुए कहा: “चीन और मध्य-पूर्वी यूरोपीय देशों के पास प्रचुर सांस्कृतिक अवशेष उपलब्ध हैं। भविष्य में हमें सांस्कृतिक विरासतों की रक्षा, मरम्मत और प्रयोग आदि क्षेत्रों पर ज्यादा जोर देना चाहिए। दोनों पक्षों के बीच समान मूल्यवान ऐतिहासिक अवशेषों को लेकर आदान-प्रदान और संरक्षण वाली व्यवस्था को गहराया जाए। मुझे विश्वास है कि भविष्य में हमारा सहयोग जरूर सफल होगा और हम चीन और मध्य-पूर्वी यूरोपीय देशों के बीच सांस्कृतिक विरासतों की रक्षा और आदान-प्रदान के लिए समान योगदान दे सकेंगे।”

चीनी राष्ट्रीय सांस्कृतिक विरासत ब्यूरो के उपप्रधान हू पिंग भाषण देते हुए

उद्घाटन समारोह में चीनी राष्ट्रीय सांस्कृतिक विरासत ब्यूरो के उपप्रधान हू पिंग ने चीन में वैश्विक सांस्कृतिक विरासत कार्य के भावी विकास पर चर्चा करते हुए कहा:“यहां मैं मध्य-पूर्वी यूरोपीय देशों के साथियों से अपील करना चाहता हूँ कि हम एक साथ सांस्कृतिक विरासत अंतरराष्ट्रीय समन्वय संपर्क व्यवस्था को संपूर्ण करें, मध्य-पूर्वी यूरोपीय देशों और चीन के बीच मानविकी आदान प्रदान को आगे बढ़ाएं, चीन-मध्य व पूर्वी यूरोपीय देशों के सांस्कृतिक विरासत मंच को‘16 प्लस 1 सहयोग’के ढांचे में आपसी आदान-प्रदान के दौरान सांस्कृतिक अवशेषों की सक्रिय भूमिका निभाएं, ताकि इस मंच को सीमा-पार और क्षेत्रिय-पार वाली बातचीत, सलाह मशविरे और मित्रवत सहयोग की नयी आदर्श मिसाल बन सके।”

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी