टिप्पणी :संघर्ष के बीच वार्ता करना शायद चीन अमेरिका व्यापार संबंध की सामान्यता होगी

2019-05-09 16:17:00

टिप्पणी :संघर्ष के बीच वार्ता करना शायद चीन अमेरिका व्यापार संबंध की सामान्यता होगी

अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि कार्यालय ने 8 मई को इस योजना की घोषणा की कि दस मई को 2 खरब अमेरिकी डॉलर लागत की चीनी वस्तुओं की टैरिफ़ दर 10 से 25 प्रतिशत तक बढ़ाई जाएगी ।इस बात पर चीनी पक्ष ने जल्दी ही प्रतिक्रिया दी कि यह दोनों देशों की जनता और विश्व की जनता के हित में नहीं है। चीन को इस पर गहरा खेद है ।अगर अमेरिका ने टैरिफ दर बढ़ाई , तो चीन को जवाबी प्रहार करना पड़ेगा।

चीन और अमेरिका के बीच 11वें दौर की व्यापार वार्ता के पहले दोनों पक्षों से जारी बयान ध्यानाकर्षक हैं ।अमेरिका का दबाव डालकर तोल मोल करने का स्पष्ट इरादा है । चीन की प्रतिक्रिया तेज़ और रवैया शांत है ।इससे चीन का हमेशा का रुख प्रकट होता है यानी वार्ता का द्वार खुला है ,लेकिन चीन अंत तक लड़ाई के लिए भी तैयार है ।कहा जा सकता है कि संघर्ष के बीच वार्ता करना शायद चीन- अमेरिका व्यापार संबंध की समान्यता होगी ।

अमेरिकी दबाव के बावजूद चीनी उप प्रधानमंत्री ल्यू ह 9 से 10 मई को आयोजित होने वाली 11वें दौर की व्यापार वार्ता में भाग लेंगे। इसका मतलब नहीं है कि चीन मजबूरी से रियायत करेगा ।इससे जाहिर है कि चीन पहले ही समझ गया था कि संघर्ष और वार्ता का साथ साथ चलना चीन-अमेरिका व्यापार संबंध की सामान्यता होगी ।

अमेरिका ने टैरिफ दर बढ़ाने की चेतावनी दी ।इससे पता चलता है कि वह कुछ हद तक बेसब्र हो गया है ।इसके विपरीत दोनों देशों के व्यापार सवाल की दीर्घकाल ,जटिलता और कठिनाई पर चीन का शांत और विवेकतापूर्ण दिमाग है । पूर्व अनुभवों से साबित हुआ है कि दबाव डालने से सवाल का समाधान नहीं होगा ।अंत में दोनों पक्षों को वार्ता की मेज़ पर लौटना है ।

11वें दौर की वार्ता में चीन पहले की तरह सलाह मशविरे को सही पटरी पर ले जाने की पूरी कोशिश करेगा ।अमेरिका वास्तव में चीन की अंतिम रेखा जानता है ।चीन सहयोग से द्विपक्षीय मतभेद सुलझाना चाहता है ,लेकिन सहयोग की अंतिम रेखा है कि इससे चीन के केंद्रीय हितों और जनता के बुनियादी हितों को नुकसान नहीं पहुंचेगा।

चाहे दो दिन के सलाह मशविरे का परिणाम कुछ भी हो, चीन शांति से किसी भी संभावना का सामना करेगा और अपने रास्ते पर चलेगा।

(वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी