अफ़्रीका के विभिन्न जगतों ने मुगाबे के निधन पर शोक जताया

2019-09-07 17:16:00

जिम्बाब्वे के पूर्व राष्ट्रपति रोबर्ट मुगाबे का निधन 6 सितंबर को सिंगापुर के एक अस्पताल में हुआ। उनकी उम्र 95 वर्ष थी। उनके निधन की खबर जारी होने के बाद विभिन्न जगत के लोगों ने इन महान राजनीतिज्ञ के प्रति गहरा शोक प्रकट किया। उन्होंने अफ़्रीका में राष्ट्रीय स्वतंत्रता आंदोलन के लिये उल्लेखनीय योगदान दिये।

राष्ट्रीय मुक्ति आंदोलन के लिये 20 वर्षों तक काम करने के बाद 18 अप्रैल, 1980 को रोबर्ट मुगाबे ने जिम्बाब्वे की स्वतंत्रता की घोषणा की। इस कारण से मुगाबे को जिम्बाब्वे का राष्ट्र पिता माना जाता है। ठीक उसी साल वे जिम्बाब्वे के प्रधानमंत्री बने। वर्ष 1987 में जिम्बाब्वे में राष्ट्रपति प्रणाली का प्रयोग किया जाने के बाद मुगाबे राष्ट्रपति बने। इस पद पर वे निरंतर रूप से वर्ष 2017 तक रहे।

अपने कार्यकाल के दौरान मुगाबे पान अफ़्रीकावाद, अफ़्रीका की स्वतंत्रता का समर्थन करते रहे, और अफ़्रीकी महाद्वीप में जनता को अधिकार देने के लिये उन्होंने अथक मेहनत की। साथ ही वे दृढ़ता से देश की संप्रभुता की रक्षा करते रहे, और बाहर से आए हस्तक्षेप का विरोध करते रहे। मुगाबे के निधन के बाद अफ़्रीका के विभिन्न जगतों ने गहरा शोक प्रकट किया।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी