सीआरआई भारतीय संवाददाता की शानशी यात्रा --पेइ लिन म्यूज़ियम

2017-04-25 10:10:45

सीआरआई भारतीय संवाददाता की शानशी यात्रा --पेइ लिन म्यूज़ियम

शानशी प्रांत के दौरे के दूसरे दिन 24 अप्रैल को सीआरआई के पत्रकारों के दल ने पेइ लिन म्यूज़ियम, सिल्क रोड के शुरुआती स्थल (जहां पर अब अवशेष और म्यूज़ियम मौजूद है), बोआई इंटरनेशनल स्कूल आदि का दौरा किया। जबकि रात में शीआन में मौजूद प्रसिद्ध और ऐतिहासिक दीवार पर चढ़ने का अवसर मिला। इस लेख में हम शीआन के बेइलिन म्यूजियम के बारे में बताएंगे।

सीआरआई भारतीय संवाददाता की शानशी यात्रा --पेइ लिन म्यूज़ियम

सबसे पहले हम सुबह शीआन पेइ लिन म्यूज़ियम पहुंचे।यह पत्थरों की मूर्तियों और स्मारकों के लिए प्रसिद्ध है। उक्त म्यूज़ियम कंफ्यूशियस मंदिर में स्थापित किया गया है और स्मारकों के लिए विशेष पहचान रखता है।जिन्हें संग्रहित करने की शुरुआत उत्तरी सुंग राजवंश में हुई। इस पूरे क्षेत्र में चार हज़ार पत्थर के बने स्मारक हैं। जो कि चीन में सबसे अधिक बताए जाते हैं। वे सात प्रदर्शनी हॉल में बंटे हुए हैं। यहां न केवल पेंटिग और कैलिग्राफी आदि का संग्रह है, बल्कि ऐतिहासिक दस्तावेज भी सहेज कर रखे गए हैं।

यहां पहुंचने पर लोगों को ऐतिहासिक चीजों की जानकारी मिलने के साथ-साथ चीन द्वारा संरक्षित दस्तावेजों की झलक भी मिलती है।

(अनिल आज़ाद पांडेय)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी