ली खछ्यांग और टेरेसा मे के बीच वार्ता हुई

2018-02-01 15:36:01

चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने 31 जनवरी को पेइचिंग के जन बृहद भवन में चीन की औपचारिक यात्रा पर आई ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरेसा मे के साथ वार्ता की।

ली खछ्यांग ने कहा कि लम्बे समय तक चीन-ब्रिटेन संबंध चीन और पश्चिमी देशों के बीच संबंधों की अग्रिम पंक्ति में रहा है। राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 2015 में ब्रिटेन की सफल यात्रा की थी, दोनों देशों ने 21वीं सदी में भूमंडलीय सर्वांगीण रणनीतिक साझेदारी संबंध स्थापित करने की घोषणा की। वर्तमान अंतरराष्ट्रीय परिस्थिति में चीन पहले की ही तरह ब्रिटेन और चीन-ब्रिटेन संबंध पर महत्व देता है। विश्वास है कि चीन-ब्रिटेन संबंधों के बेहतर और स्थिर विकसित रुझान को बरकरार रखना दोनों पक्षों के समान हितों से ही नहीं, क्षेत्रीय और वैश्विक शांति, स्थिरता और समृद्धि के लिए भी मददगार सिद्ध होगा।

ली खछ्यांग ने यह भी कहा कि वर्तमान में चीन और ब्रिटेन अपने-अपने विकास के कुंजीभूत समय से गुज़र रहे हैं। दोनों एक दूसरे के पूरक हैं और विभिन्न क्षेत्रों में आपसी लाभ वाले सहयोग का उज्ज्वल भविष्य मौजूद है। इस तरह दोनों देशों को मौका पकड़ते हुए एक ही दिशा में आगे बढ़ाना चाहिए, ताकि चीन और ब्रिटेन के बीच“स्वर्णिम संबंध”नए ऐतिहासिक काल में तेज़ी से आगे बढ़ाया जा सके।

पहला, एक दूसरे का सम्मान करते हुए राजनीतिक पारस्परिक विश्वास को सुदृढ़ किया जाए। उच्च स्तरीय आवाजाही को घनिष्ठ बनाकर रणनीतिक आम सहमतियों को गहराया जाए। एक दूसरे के मूल हितों और महत्वपूर्ण चिंताओं का समादर करते हुए मतभेदों का अच्छी तरह निपटारा किया जाए।

दूसरा, रणनीतिक जोड़ को मज़बूत करते हुए दो तरफ़ा खुलेपन का विस्तार किया जाए। “बेल्ट एंड रोड”, परमाणु बिजली, हाई स्पीड रेल, वित्त, उच्च तकनीकी व्यापार, त्रि-पक्षीय बाज़ार जैसे कई क्षेत्रों में सहयोग को मज़बूत किया जाए।

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी