शांगहाई सहयोग संगठन के फिल्म दिवस में भारत की गैर मुख्यधारा फिल्में लोगों की नज़र आकर्षित करती है

2018-06-15 16:19:01

14 जून को शांगहाई सहयोग संगठन के फिल्म दिवस का महत्वपूर्ण चरण फोकस छिंगताओ में शुरू हुआ। पहले फोकस किए जाने वाले देश के रूप में भारत की तीन हिन्दी फिल्में टेक ऑफ, बिसर्जन और सैराठ का प्रदर्शन किया जाएगा। बॉलीवुड के मुख्यधारा फिल्मों से अलग हैं। इन फिल्मों में समाज की समानता, जाति संघर्ष और आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष जैसी यथार्थवादी समस्याओं को दिखाया गया है। फिल्म कला से यथार्थवादी सामाजिक मुद्दों को प्रस्तुत किया जाने से ये फिल्में भारत में बड़ा प्रभाव डालती हैं।भविष्य में चीन और भारत के बीच फिल्म के आदान-प्रदान पर भारतीय फिल्म निर्माताओं को बड़ी आशा है। फिल्म बिसर्जन के निर्माता करती सुवर्णकंती ने कहा कि हालांकि यह पहली बार शांगहाई सहयोग संगठन के फिल्म दिवस का आयोजन किया गया, लेकिन विभिन्न देशों के बीच सांस्कृतिक मेलजोल के लिए वह महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उन्हें विश्वास है कि भविष्य में सांस्कृतिक मेलजोल का और अधिक अवसर मिलेगा। वास्तव में उन्होंने सहयोग करने के मुद्दे पर विचार-विमर्श किया।

(वनिता)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी