चीन का अमेरिका से आग्रह, द्विपक्षीय संबंध को नुकसान पहुंचाने वाली कथनी-करनी बंद करें

2018-10-09 20:21:00

चीन ने अमेरिका से चीन पर निराधार आरोप बंद करने, दूसरे देश के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप बंद करने और चीन-अमेरिका संबंध को नुकसान पहुंचाने वाली कथनी-करनी बंद करने का आग्रह किया। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू खांग ने 9 अक्तूबर को पेइचिंग में आयोजित नियमित संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही।

हाल में अमेरिकी नेता ने यह बयान जारी कर चीन पर अमेरिका के अंदरूनी मामले और आम चुनाव में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया। इसकी चर्चा करते हुए लू खांग ने कहा कि अमेरिकी नेता द्वारा लगाए गये निराधार आरोप पर चीन ने शुरु से ही अपना रुख स्पष्ट कर दिया और कहा कि यह आरोप बिल्कुल निराधार और अस्वीकृत है। चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने 8 अक्तूबर को अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पेओ से भेंट करने के दौरान बल देते हुए कहा कि चीन इस मामले पर एकदम स्पष्ट और निष्कपट है, इसके साथ ही चीन का अंतःकरण भी साफ़ है।

लू खांग ने कहा कि चीन हमेशा से दूसरे देशों के अंदरूनी मामलों में गैर-हस्तक्षेप करने के सिद्धांत पर कायम रहा है। चीन को अमेरिका के अंदरूनी मामले और चुनाव में हस्तक्षेप करने की कोई रूचि नहीं है। अमेरिका ने यह कहा कि चीन ने अतिरिक्त कर वसूले जाने से अमेरिका के चुनाव को प्रभावित करना चाहा, लेकिन वास्तविक स्थिति एकदम साफ़ है। चीन और अमेरिका के बीच आर्थिक व्यापारिक विवाद अमेरिका ने छेड़ा है। चीन को विवश होकर आवश्यक प्रतिक्रिया देनी पड़ी। यह चीन का सक्रिय प्रतिरक्षात्मक जवाब है।

लू खांग ने यह भी कहा कि विश्व में आखिरकार कौन देश कभी-कभी दूसरे देशों के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप करते हैं? इसे अंतरराष्ट्रीय समुदाय बहुत साफ़ चश्मे से देखता है। चीन ने अमेरिका से चीन पर निराधार आरोप बंद करने, दूसरे देश के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप बंद करने और चीन-अमेरिका संबंध को नुकसान पहुंचाने वाली कथनी-करनी बंद करने का आग्रह किया।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी