शी चिनफिंग की आम लोगों के बीच में कहानी 6 --- शी चिनफिंग और अल्पसंख्यक जातीय लोगों के बीच कहानी

2019-02-10 21:34:00

“तुलोंग जाति की जनसंख्या कम है, केवल 6900 से अधिक है, लेकिन यह हमारी 56 जातियों वाले बड़े परिवार की सदस्य है, जो दूसरी जातियों के बराबर है। अब हमारे पास चीनी राष्ट्र का महान पुनरुत्थान करने, चीनी स्वप्न को साकार करने वाला पवित्र मिशन है। हर एक जाति के बिना नहीं होनी चाहिए। हम सभी सर्वांगीण खुशहाल जीवन को बखूबी अंजाम देंगे। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी विभिन्न जातियों के विकास और निर्माण का ख्याल रखती है। पूरे समाज में खुशहाली के लिए पार्टी और सरकार हमेशा समर्थन करती रहेंगी।”

दक्षिणी शिनच्यांग के काशगर में शी चिनफिंग वेवुर जातीय गांव का दौरा करते हुए

शिनच्यांग वेवुर स्वायत्त प्रदेश का क्षेत्रफल पूरे चीन के थलीय क्षेत्रफल का एक छठां भाग है, जहां हान जाति, वेवुर जाति और कज़ाक जाति समेत 47 जातियां रहती हैं। शिनच्यांग में स्थिरता और विकास पर शी चिनफिंग हमेशा ध्यान देते हैं। अप्रैल 2014 में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की 18वीं राष्ट्रीय कांग्रेस के बाद अपनी पहली शिनच्यांग यात्रा के दौरान शी चिनफिंग ने दक्षिणी शिनच्यांग स्थित काशगर क्षेत्र का निरीक्षण दौरा किया। वेवुर जातीय गांव में गांववासी अब्दुल ग्यूम रोज़ के घर में शी चिनफिंग ने लीविंग रूम, रसोई घर, भेड़शाला, फल उद्यान और कृषि मशीन को देखा और इस परिवार की जीवन उत्पादन स्थिति की जानकारी ली।

“इस बार मैं इसलिए यहां आया हूँ कि मैं देखना चाहता हूँ कि क्या केंद्र सरकार द्वारा बनाई गई नीति जनता की इच्छानुसार है कि नहीं। पार्टी की सभी नीतियां जनता की इच्छा के अनुसार जनता के उद्धार के लिए बनायी जानी चाहिए, और इसका अच्छी तरह कार्यान्वयन किया जाना चाहिए।”

साल 2017 के मार्च माह में पेइचिंग में एनपीसी और सीपीपीसीसी के राष्ट्रीय सम्मेलनों के आयोजन के दौरान शी चिनफिंग ने शिनच्यांग वेवुर स्वायत्त प्रदेश के हथ्येन क्षेत्र से आए एनपीसी प्रतिनिधि मोहम्मद इब्राहिम के साथ बातचीत की।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी