टिप्पणी:चीनी अर्थव्यवस्था के उन्नयन से विश्व को मौका मिलेगा

2019-03-15 18:06:00

चीनी राष्ट्रीय जन प्रतिनिधि सभा का वार्षिक अधिवेशन 15 मार्च को पेइचिंग में समाप्त हुआ। विश्व भर में आर्थिक मंदी होने की स्थितियों में चीन की जन प्रतिनिधि सभा में आशावादी भावना से भरे सुझाव और रूपरेखा प्रस्तुत किये गये हैं। चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने जोर देते हुए कहा कि चीन की अर्थव्यवस्था तर्कसंगत रेंज में चलेगी और नवाचार से आधारित शक्ति से चीनी अर्थव्यवस्था का उन्नयन दिलाया जाएगा, जिससे विश्व को उभय जीत और समान विकास का मौका तैयार किया जाएगा।

15 मार्च को चीनी जन प्रतिनिधि सभा में विदेशी निवेश कानून को पारित किया गया। साथ ही चीन सरकार ने पूरे वर्ष में कर-वसुली की कटौती करने तथा विकेन्द्रीकरण करने और प्रबंधन व सेवा में सुधार लाने का रुपांतर चलाने का वचन दिया। सरकार की कार्य रिपोर्ट के मुताबिक रोजगार को प्राथमिकता दी जाएगी। अनेक सकारात्मक सूचनाओं से बाजार को उत्तेजित किया जाएगा। सरकार की कार्य रिपोर्ट के मुताबिक चीन विभिन्न क्षेत्रों में इंटरनेट प्लस की विचारधारा अपनाएगा। जिससे यह जाहिर है कि इंटरनेट, कृत्रिम बुद्धिमत्ता और पारंपरिक उद्योग के उन्नयन से नयी उभरती अर्थव्यवस्थाओं को बढ़ाया जाएगा।

चीन में पारंपरिक उद्योगों के उन्नयन से देशव्यापी कारोबारों को सहयोग करने का मौका तैयार किया गया है। वर्ष 2018 में चीन में कृत्रिम बुद्धिमत्ता उद्योग का पैमाना 68.6 अरब युआन तक पहुँच गया। चीन के बीसेक प्रांतों ने कृत्रिम बुद्धिमत्ता उद्योग का समर्थन करने की नीतियां घोषित कीं। अब पूरे देश में कृत्रिम बुद्धिमत्ता उद्योगों की संख्या 1500 तक जा पहुंची है, जो विश्व के दूसरे स्थान पर रहती है।

इंटरनेट और डिजिटल अर्थव्यवस्था के विकास से चीन में विशाल उपभोक्ता बाजार के परिवर्तन को बढ़ावा दिया जाएगा। आज अधिकाधिक चीनी उपभोक्ताओं ने ई-कॉमर्स शॉपिंग, मोबाइल पेमेंट, वॉयस इंटरैक्शन, फेस रिकग्निशन तथा ऑनलाइन क्लाउड एजुकेशन आदि सर्विस का प्रयोग करना शुरू किया है। साथ ही स्वचालित ड्राइविंग, क्लाउड मेडिकल आदि और ज्यादा सुविधाजनक उत्पादों और सेवाओं का भी लोगों के जीवन में दाखिल होने लगा है। अनुमान है कि वर्ष 2021 तक विश्व में डिजिटल अर्थव्यवस्था का पैमाना 450 खरब अमेरिकी डालर तक जा पहुंचेगा। पूरे अर्थतंत्र में डिजिटल अर्थतंत्र का अनुपात पचास प्रतिशत से अधिक रहेगा। तब चीन में डिजिटल अर्थव्यवस्था का पैमाना 85 खरब अमेरिकी डालर तक जा पहुंचेगा। चीन इस संदर्भ में अग्रसर भूमिका अदा करेगा। चीनी राजकीय सांख्यिकी ब्यूरो के मुताबिक गत वर्ष चीन ने गत वर्ष अनुसंधान और विकास में 19 खरब 60 अरब युआन की पूंजी डाली है। जो वर्ष 2017 से 11.6 प्रतिशत अधिक रही। चीन की समग्र तकनीकी नवाचार क्षमता विश्व के 17वें स्थान पर रही है।

उधर चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने 15 मार्च को कहा कि चीन नये औद्योगिक प्रारूप और नये मोड के प्रति समावेशी और सतर्क सिद्धांत अपनाता है। विकास में उभरती समस्याओं का विकास के चलते ही समाधान किया जाना चाहिये। उद्यमियों को जगह दी जानी चाहिये और उद्यमों के लिए विकास वातावरण तैयार किया जाना चाहिये। चीन के उच्च गुणवत्ता वाले विकास से दूसरे देशों और अंतर्राष्ट्रीय कारोबारों को नया मौका तैयार किया जाएगा।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी