घर और देश पर पिता और बेटे का समान लगाव

2019-06-16 19:08:00

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के पिता शी चोंगशुन थे, जो लंबे समय तक उत्तर पूर्वी चीन में कार्यरत थे। उस समय स्थानीय कर्मचारी और आम लोग अकसर कहा करते थे कि चोंग शुंग से मिलने चलें। इस से जाहिर थी कि जनता के बीच शी चोंगशुंग का ऊँचा स्थान था।

शी चिनफिंग ने एक बार इटली की निचली सदन के अध्यक्ष फिको के प्रश्न के जवाब में कहा कि मैं अपने को भूलकर जनता को निराश नहीं करूंगा, जिसे व्यापक प्रशंसा मिली।

पहाड़ जैसा अटल विश्वास

शी चोंगसुन ने कहा कि जनता तो सत्ता है, जबकि सत्ता तो जनता है। शी चिनफिंग ने कहा कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्यों की प्रारंभिक आकांक्षा और कार्य चीनी जनता के लिए सुख लाना और चीनी राष्ट्र का पुनरुत्थान करना है।

बुढ़ापे में शी चोंगशुन ने अपने जीवन का सारांश करते हुए कहा कि आजीवन संघर्ष करने खुशी से आजीवन बिताया जाता है, हर दिन संघर्ष करने से हर दिन खुश होता है।

19वीं सीपीसी कांग्रेस के समापन के बाद शी चिनफिंग ने सीपीसी पोलित ब्यूरो के स्थाई सदस्यों को लेकर सीपीसी के जन्म स्थान शांगहाई और च्या शिंग का दौरा किया।

उन्होंने विभिन्न मौकों पर व्यापक कर्मचारियों से प्रारंभिक आकांक्षा न भूलकर जनता के लिए सुख पहुंचाने को प्रोत्साहित किया।

जनता के सेवक

शी चोंगसुन ने कहा कि जनता की सेवा करना माता पिता के प्रति सब से बड़ी भक्ति है। शी चिनफिंग ने कहा कि मैं अपने को भूलकर जनता को निराश नहीं करूंगा।

शी चोंगसुन ने शी चिनफिंग से कहा कि चाहे तुम्हारा पद कितना ऊँचा हो, मेहनत से जनता की सेवा मत भूलो। संजीदगी से जनता का ख्याल रखो, जनता से संपर्क करो और मिलनसार बनो।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी