समानता और एक दूसरे का समादर करने वाले सिद्धांत से वार्ता जारी रखें

2019-08-01 11:41:00

12वें चरण की चीन-अमेरिका व्यापार वार्ता 31 जुलाई को शांघाई में समाप्त हो गई। वार्ता में दोनों देशों के वार्ताकारों ने ओसाका सहमति के मुताबिक आर्थिक और व्यापारिक मामलों में समान हित वाले मुद्दों पर खुले, कारगर और रचनात्मक तौर पर विचार विनिमय किया। विषयों में यह भी शामिल है कि चीन अमेरिका से अधिक कृषि उत्पाद खरीदेगा और अमेरिका इसके प्रति माहौल तैयार करेगा। अगले चरण की वार्ता सितंबर में अमेरिका में की जाएगी।

वर्ष 2018 के फरवरी से चीन और अमेरिका ने कुल 12 चरणों की वार्ताएं की हैं और उल्लेखनीय प्रगतियां हासिल की हैं। इस वर्ष 10 मई को अमेरिका ने दो खरब अमेरिकी डॉलर वाले चीनी मालों पर अधिक कर वसुली से व्यापार वार्ता और विश्व अर्थतंत्र को गंभीर रूप से तोड़ा। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने हाल ही में प्रकाशित अपनी रिपोर्ट में यह पूर्वानुमान लगाया कि इस वर्ष और अगले साल में विश्व अर्थतंत्र की वृद्धि दर 3.2 और 3.5 प्रतिशत रहेगी, जो इससे पहले के अनुमान से कम है।

ऐतिहासिक सबूत है कि व्यापार युद्ध का कोई विजेता नहीं बनता। सहयोग करना दोनों देशों के लिए एकमात्र सही विकल्प है। जून माह में चीन और अमेरिका के राष्ट्रपतियों ने ओसाका में वार्ता कर समानता और आपसी सम्मान के आधार पर वार्ता को बहाल करने पर सहमति जतायी। इसी पृष्ठभूमि में 12वें चरण की वार्ता करने का विशेष महत्व है। वार्ता के परिणाम से यह नजर आया है कि दोनों देशों ने संवेदनशील और कठिन मुद्दों को टाला नहीं है और एक दूसरे की चिन्ताओं पर विचारों का खूब आदान-प्रदान किया। इसके अतिरिक्त दोनों पक्षों ने कृषि उत्पादों की खरीदारी पर भी सहमति संपन्न की है। इससे दोनों पक्षों की सहयोग करने की उम्मीद जाहिर होने लगी है। अगले चरण की वार्ता सितंबर में अमेरिका में आयोजित होगी। पर अगस्त में ही दोनों देशों के कार्य दलों के बीच भी घनिष्ठ बातचीत की जाएगी। इसका मतलब है कि दोनों पक्षों को वार्ता जारी रखने की उम्मीदें प्राप्त हैं।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी