टिप्पणी: दूसरों को दबंगई दिखाना और अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ना उचित नहीं

2019-08-05 19:39:00

अमेरिका के व्हाइट हाउस के सलाहकार पीटर नावार्रो ने 4 अगस्त को यह दावा किया कि चीन सात पहलुओं में दोषी है। अगर चीन इन गलतियों को सुधारता नहीं है, तो चीनी वस्तुओं पर लगाये गये टैरिफ हटाये नहीं जाएंगे। पर उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका सितंबर में आयोजित चीन-अमेरिका वार्ता की तैयारी कर रहा है।

तथाकथित सात दोषों में शामिल हैं बौद्धिक संपदा अधिकार संरक्षण, प्रौद्योगिकी हस्तांतरण, राज्य के स्वामित्व वाले कारोबारों की सब्सिडी तथा दवा फेंटेनल का नियंत्रण आदि। लेकिन अमेरिका ने चीन पर जो आरोप लगाया है, वह सरासर निराधार है। मिसाल के तौर पर चीन अपना नवाचार उन्मुख विकास करने के लिए सदैव बौद्धिक संपदा अधिकार का कड़ाई से संरक्षण करता रहा है। इधर के वर्षों में चीन में बौद्धिक संपदा अधिकार के संरक्षण में उल्लेखनीय प्रगतियां हासिल हुई हैं। 2019 की पहली छमाही में विदेशियों द्वारा चीन में प्रस्तुत आविष्कार पेटेंट आवेदनों की संख्या 78 हजार तक जा पहुंची है, जो पिछले साल की इसी अवधि से 8.6 प्रतिशत अधिक रही। ट्रेडमार्क अनुप्रयोगों की संख्या 1.27 लाख तक पहुंच गई है, जो 15.4 प्रतिशत अधिक रही। इनसे यह साबित है कि वैश्विक नवाचार कारोबार चीन में बौद्धिक संपदा अधिकार के संरक्षण के प्रति काफी विश्वस्त है। विश्व बौद्धिक संपदा अधिकार संगठन के मुताबिक वर्ष 2019 में चीन का वैश्विक नवाचार सूचकांक 14वें स्थान पर आ गया है जबकि एक साल पहले चीन का यह स्थान 17वां था। इस संगठन के महासचिव ने कहा कि चीन विश्व बौद्धिक संपदा अधिकार प्रणाली में अग्रणी बना है।

दूसरी बात है फेंटेनल का नियंत्रण। अभी तक चीन में नियंत्रित फेंटेनल दवाओं की संख्या 25 किस्मों तक रही है, जो संयुक्त राष्ट्र संघ के निर्धारित 21 किस्म से भी अधिक है। 1 मई से चीन ने सभी फेंटेनल दवाओं को ड्रग्स के रूप में देखना शुरू किया है। चीन में ऐसी दवाओं पर किया गया नियंत्रण अमेरिका की तुलना में भी अधिक सख्त है। पर अमेरिका में फेंटेनल इसलिए फैलता है क्योंकि उसने नशीली दवाओं के नियंत्रण में काफी कोशिश नहीं की है। यह चीन की जिम्मेदारी नहीं है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी