शरणार्थी मुद्दों पर संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी सम्मेलन में चीन का रुख

2018-10-03 17:36:01

चीनी स्थायी प्रतिनिधि यू जियान ह्वा

संयुक्त राष्ट्र के जिनेवा कार्यालय और स्विट्जरलैंड स्थित अन्य अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के चीनी स्थायी प्रतिनिधि यू जियान ह्वा ने शरणार्थियों के लिये संयुक्त राष्ट्र उच्चायुक्त कार्यालय (यूएनएचसीआर) की कार्यकारी समिति की 69वीं बैठक की बहस में भाषण दिया। उन्होंने शरणार्थी मुद्दे पर चीन का रुख और प्रस्ताव को स्पष्ट किया।

यू ने कहा कि हाल के वर्षों में अंतर्राष्ट्रीय शरणार्थी स्थिति अधिक गंभीर हुई है। विकासशील देशों में दुनिया के अधिकांश शरणार्थी रहते हैं और इसके लिए भारी सामाजिक और आर्थिक दबाव का सामना करना पड़ा है। कुछ देशों में एकपक्षवाद, अज्ञात व्यक्ति भीति और लोकलुभावन वाद बढ़ रहा है। शरणार्थी मुद्दे की राजनीतिकरण तेजी से गंभीर हो गया है। अंतरराष्ट्रीय समुदाय को शरणार्थी संकट को कम करने के लिए एकजुट होना चाहिए।

यू ने शरणार्थी संकट के वैश्विक प्रबंधन पर तीन प्रस्ताव पेश किए। पहला, बहुपक्षीय ढांचे के तहत शरणार्थियों जैसे वैश्विक चुनौतियों का सामना करें। संयुक्त राष्ट्र को केंद्रित बहुपक्षीय तंत्र के अधिकार की रक्षा करना, राष्ट्रीय संप्रभुता का सम्मान करना और शरणार्थी समस्या को हल करने में संयुक्त राष्ट्र जैसे बहुपक्षीय तंत्र की मुख्य भूमिका निभाना चाहिए। चीन सभी पक्षों की सर्वसम्मति के आधार पर संयुक्त राष्ट्र के शरणार्थियों पर वैश्विक कॉम्पैक्ट को पारित करने का समर्थन करता है। दूसरा, एक तरफ़ सभी देशों को "समान पर भिन्न भिन्न जिम्मेदारियों" के सिद्धांत के अनुसार जिम्मेदारी लेनी चाहिए। यूएनएचसीआर और प्रासंगिक शरणार्थी प्राप्त करने वाले देशों के प्रति समर्थन को मजबूत करें। दूसरी तरफ़ युद्ध और गरीबी जैसे मूल कारणों को हल करना चाहिए , ताकि शरणार्थियों के स्रोत देशों में दीर्घकालिक स्थिरता और विकास हो। तीसरा, तटस्थ सिद्धांतों के मुताबिक शरणार्थी मामलों को सँभालना चाहिए। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय और यूएनएचसीआर को शरणार्थी संरक्षण तंत्र को आंतरिक मामलों में दखल देने के उपकरण से बचाना चाहिए।

(नीलम)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी