“चीन में सुधार और खुलेपन की 40वीं वर्षगांठ की दृष्टि में चीन-रूस संबंध विकास का फल और आउटलुक”शीर्षक संगोष्ठी आयोजित

2018-12-14 16:32:00

“चीन में सुधार और खुलेपन की 40वीं वर्षगांठ की दृष्टि में चीन-रूस संबंध विकास का फल और आउटलुक”शीर्षक संगोष्ठी आयोजित

रूस स्थित चीनी दूतावास और रूसी अंतरराष्ट्रीय मामला समिति के संयुक्त तत्वावाधान में“चीन में सुधार और खुलेपन की 40वीं वर्षगांठ की दृष्टि में चीन-रूस संबंध विकास का फल और आउटलुक”शीर्षक संगोष्ठी 12 दिसम्बर को मास्को में आयोजित हुई। दोनों देशों के करीब 100 विशेषज्ञों और विद्वानों ने भाग लिया और द्विपक्षीय संबंधों के भावी विकास के लिए सुझाव और राय पेश की।

रूस स्थित चीनी राजदूत ली हुई ने संगोष्ठी में कहा कि 40 सालों के तथ्यों से जाहिर है कि चीन में सुधार और खुलेपन का रास्ता सही है, जो चीन द्वारा अपने विकास के आधार पर किया गया रणनीतिक विकल्प है। चीन अविचल रूप से सुधार और खुलेपन की नीति को जारी करेगा। वर्तमान में सुधार और खुलापन गहरे विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है, जिसके सामने कई मुश्किलें मौजूद हैं और पूर्व विकसित नमूना आर्थिक वृद्धि को आगे बढ़ाने में असमर्थ है। इस तरह चीन ने खुद के लिए लक्ष्य बनाया कि खुलेपन के स्तर, दायरा, पैमाना और गुणवत्ता को विस्तार करेगा।

राजदूत ली हुई ने कहा कि सुधार और खुलेपन की नीति से लाभ उठाकर चीन-रूस संबंध में नया विकास प्राप्त हुआ। द्विपक्षीय संबंध अभूतपूर्व ऊँचाई पर रहा। दोनों देशों के बीच वास्तविक सहयोग लगातार मजबूत हो रहा है। इस वर्ष द्विपक्षीय व्यापार रकम 1 खरब अमेरिकी डॉलर से अधिक होगी। अगल वर्ष चीन और रूस के बीच कूटनीतिक संबंध की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ होगी। चीन रूस के साथ मिलकर इससे लाभ उठाकर द्विपक्षीय संबंध को और सुदृढ़ बनाना चाहता है, विभिन्न क्षेत्रों में वास्तविक सहयोग को गहराना चाहता है, ताकि चीन-रूस संबंध से दोनों देशों और दोनों देशों की जनता को ज्यादा लाभ मिल सके।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी