सीडीएसी से सांस्कृतिक आत्मविश्वास की पुनः स्थापना के लिए सार्थक है- ईरानी चित्रकार

2019-05-07 15:44:00

सीडीएसी से सांस्कृतिक आत्मविश्वास की पुनः स्थापना के लिए सार्थक है- ईरानी चित्रकार

एशियाई सभ्यताओं के संवाद पर सम्मेलन यानी सीडीएसी जल्द ही पेइचिंग में आयोजित होने जा रहा है। ईरानी चित्रकार नसरीन दास्तान मौजूदा सम्मेलन में भाग लेंगी। हाल में उन्होंने चाइना रेडियो इन्टरनेशनल को दिए एक खास इन्टरव्यू में कहा कि एशियाई सभ्यताओं के संवाद पर सम्मेलन के आयोजन से आधुनिक सभ्यताओं के बीच आदान-प्रदान मजबूत होगा और यह सांस्कृतिक आत्मविश्वास की पुनः स्थापना के लिए भी बहुत सार्थक है।

चित्रकार नसरीन पानी वाली रंगीन चित्रकला और तेल चित्रकला में निपुण हैं। वे चीनी राष्ट्रीय शैली के चित्र सिखने चीन आई और साल 2008 में उन्होंने चीनी केंद्रीय ललित कला कॉलेज में डॉक्टर की उपाधि प्राप्त की। उनकी चित्र शैली में चीनी और ईरानी की विशेषता की झलक देखने को मिलती है। ईरान और चीन में उन्होंने 40 से अधिक सामूहिक चित्र प्रदर्शनियों और 30 व्यक्तिगत चित्र प्रदर्शनियों में भाग लिया, इसके साथ ही नसरीन ने कई बार चीनी चित्रकारों के ईरान में प्रदर्शनी और आदान-प्रदान करवाने में अहम भूमिका निभाई।

सीडीएसी से सांस्कृतिक आत्मविश्वास की पुनः स्थापना के लिए सार्थक है- ईरानी चित्रकार

उन्होंने कहा कि वर्तमान में हमारी सभ्यताएं इतिहास में विभिन्न प्रकार की सभ्यताओं के लगातार आदान-प्रदान और मिश्रण का फल है। चीन और ईरान के बीच पिछले 2 हज़ार से अधिक वर्षों में आवाजाही के इतिहास का सिंहावलोकन करते हुए हम प्राचीन रेशम मार्ग पर इस प्रकार के आदान-प्रदान और मिश्रण को देख सकते हैं। सभ्यताओं के आदान-प्रदान से हमारा और चीन के साथ संबंध आज तक कायम है। इस तरह एशियाई सभ्यताओं के संवाद पर सम्मेलन इसी संबंध को जारी रखने में मददगार सिद्ध होगा और साथ ही साथ आधुनिक समाज में विभिन्न सभ्यताओं के बीच संबंधों को और करीब लाया भी जाएगा। नसरीन के विचार में मौजूदा सीडीएसी सम्मेलन से आधुनिक सभ्यताओं के बीच आदान-प्रदान का संवर्धन बहुत महत्वपूर्ण है।

नसरीन ने कहा कि पूर्वी सभ्यता पहले विश्व में अग्रिम स्थान पर रही। कागज़, चिकित्सा और बारूद प्राचीन रेशम मार्ग से पश्चिम तक पहुंचा, जिनसे पश्चिम में बड़ा प्रभाव पड़ा। मौजूदा एशियाई सभ्यताओं के संवाद पर सम्मेलन एशियाई सभ्यता, खासकर प्राचीन चीनी और ईरानी सभ्यताओं के बीच पुल बन जाएगा, पश्चिम तक पूर्व की संस्कृति और कला पहुंचाया जा सकेगा और सांस्कृतिक आत्मविश्वास की पुनः स्थापना के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी