चीन महत्वपूर्ण सिद्धांतों पर रियायत नहीं देगा:चीनी प्रमुख वार्ताकार

2019-05-12 17:04:00

11वें दौर की चीन-अमेरिका वरिष्ठ व्यापार वार्ता 9 से 10 मई तक वाशिंग्टन में आयोजित हुई। चीनी प्रमुख वार्ताकार, उप प्रधानमंत्री ल्यू ह ने कहा कि व्यापार चीन और अमेरिका के बीच संबंधों में इंजन का जैसा है, जो विश्व की शांति व समृद्धि पर भी प्रभाव डालता है। दोनों पक्षों के लिए सहयोग एक मात्र ही विकल्प है, लेकिन सहयोग करने की पूर्वशर्त भी है। चीन महत्वपूर्ण सिद्धांतों पर रियायत नहीं देगा।

ल्यू ह ने कहा कि चीनी दल ने काफी ईमानदारी के साथ वाशिंग्टन की वार्ता में अमेरिका के साथ खुले और रचनात्मक तौर पर विचारों का आदान प्रदान किया। चीन अमेरिका के द्वारा अधिक कर वसुलने का विरोध करता है क्योंकि इससे चीन, अमेरिका और सारी दुनिया के अनुकूल नहीं है। चीन को विवश होकर जवाबी कदम उठाना पड़ेगा।

ल्यू ह ने कहा कि दोनों पक्षों के बीच संपन्न होने वाला समझौता समानता और आपसी लाभ पर आधारित होना चाहिये। अभी तक कुछ महत्वपूर्ण सवालों पर मतभेद मौजूद हैं यानी कि पहला, अमेरिका द्वारा लगायी गयी अतिरिक्त कर वसुली को रद्द किया जाएगा। दूसरा, व्यापार खरीद की संख्या दोनों देशों के नेताओं के बीच अर्जेंटीना में संपन्न सहमति के मुताबिक तय की जानी चाहिये। तीसरा, प्रोटोकॉल तय करते समय सभी पक्षों की गरिमा का ध्यान रखना चाहिये।

ल्यू ह न कहा कि चीन की सबसे महत्वपूर्ण बात है कि अपने अन्दरूनी मामलों को अच्छी तरह निपटारा किया जाना चाहिये। आपूर्ति पक्ष संरचनात्मक सुधार करने के जरिये उत्पादों और कारोबार प्रतिस्पर्धाओं को अपग्रेड किया जाएगा। चीनी अर्थतंत्र का भविष्य आशावान है।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी