ब्रिटिश महल में चीनी जापान-विरोधी युद्ध की विजय की स्मृति प्रदर्शनी आयोजित

2019-09-30 16:35:00

प्रोफेसर बरोन प्फ़ेटन अपना अपेथोरपे महल के सामने

ब्रिटेन के अपेथोरपे महल का इतिहास 500 साल पुराना है, जहां ब्रिटेन के इतिहास में चार राजा रहते थे। इन दिनों चीन के जापान-विरोधी युद्ध की विजय की 70वीं वर्षगांठ से जुड़ी स्मृति प्रदर्शनी इस राज महल में भी आयोजित की जा रही है। यह चीनी जापान-विरोधी युद्ध के विषय वाली सरकारी प्रदर्शनी का पहली बार ब्रिटिश राज महल में प्रवेश करना है, बल्कि संबंधित विषय वाली प्रदर्शनी के पहली बार विदेश में आयोजित की जा रही है।

इस महल के मालिक ब्रिटेन के शाही पश्चिम-पूर्व अनुसंधान संस्थान के अध्यक्ष प्रोफेसर बरोन प्फ़ेटन ने कहा कि पहले बहुत से ज्यादा ब्रिटिश लोगों को चीन की अधिक जानकारी नहीं थी, और न ही चीन के जापान विरोधी युद्ध के इतिहास के बारे में। लेकिन चीन के जापान विरोधी युद्ध यूरोप में नाजी के मुकाबले के बराबर था, जो विश्व में फासीवाद विरोधी युद्ध का महत्वपूर्ण भाग था।

उन्होंने कहा कि इस वर्ष नए चीन की स्थापना की 70वीं जयंती है। पिछले 70 सालों में चीन का विकास विश्व ध्यानाकर्षक है। खास कर इधर के सालों में चीन के विकास ने उन पर तीन पहलुओं में गहरी छाप छोड़ी। पहला, चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने नई मार्गदर्शन विचारधारा निश्चित की, यानी कि शी चिनफिंग की नए युग में चीनी विशेषता वाले समाजवाद की विचारधारा। दूसरा, चीन एशिया में आर्थिक विकास के इंजन से वैश्विक आर्थिक विकास का इंजन बन चुका है। चीन के विकास के बिना, वैश्विक आर्थिक विकास नहीं होता। तीसरा, विश्व शांति के क्षेत्र में चीन एक बहुत महत्वपूर्ण देश है, जिसने वैश्विक शांति की रक्षा के लिए भारी योगदान दिया।

ब्रिटेन के शाही पश्चिम-पूर्व अनुसंधान संस्थान के अध्यक्ष प्रोफेसर बरोन प्फ़ेटन सीएमजी संवाददाता के साथ बातचीत करते हुए

जानकारी के मुताबिक, अपेथोरपे महल ब्रिटेन में राष्ट्र स्तरीय महल धरोहर है, जिसे ब्रिटिश राजा जेम्स प्रथम के युग में सबसे सुन्दर महल माना जाता है। ब्रिटेन के इतिहास में इस महल का महत्वपूर्ण स्थान है। अप्रैल साल 2015 में इस राजमहल को औपचारिक तौर पर ब्रिटिश राष्ट्रीय धरोहरों की सूची में शामिल किया गया।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी