हाईशी मंगोलियाई और तिब्बती स्वायत्त प्रिफेक्चर में आया बड़ा परिवर्तन

2017-11-01 17:00:01

युवा चरवाहा बुयिंगला का नया घर

हाईशी मंगोलियाई और तिब्बती स्वायत्त प्रिफेक्चर पश्चिमी चीन के छिंग हाई प्रांत में स्थित है। हाईशी का शाब्दिक अर्थ है सागर का पश्चिमी क्षेत्र या पश्चिमी सागर। हाईशी चीन की सबसे बड़ी झील छिंगहाई झील के पश्चिम में फैला है। पिछले पाँच साल में हाईशी प्रिफेक्चर में रहने वाली तीस से ज्यादा विभिन्न जातियों की जनता को दिन दूनी रात चौगुनी बढ़ने का एहसास हुआ। युवा चरवाहा बुयिंगला घास मैदान में अस्थिर निवास को विदाई देकर चरवाहों के लिए बनी शहरी कॉलोनी में स्थानांतरित हुए। मंगोलियाई युवा योंग शंगच्या के प्रति बीते हुए पाँच साल न सिर्फ निवास पर्यावरण में सुधार आया ,बल्कि वह एक विद्यार्थी से एक स्टार्ट अप टैलंट बन चुका है। साल भर बर्फ से ढंकी हुई थांगगुला पहाड़ की तलहटी में रहने वाले तिब्बती चरवाहों के जीवन में कायापलट हुई।

चरवाहा बुयिंगला के घर में चंगेज़ खान के चित्र, मंगोलियाई चोगा, दूध वाली चाय, स्नैक साज़ी यानी तेली हुई नमकीन जैसे मंगोलियाई सांस्कृतिक तत्व भरे हुए हैं। लेकिन परंपरागत मंगोलियाई घुमंतू जीवन से अलग होकर बुयिंगला अब हाईशी प्रिफेक्चर के दलिंगहा शहर में एक आधुनिक थाओएरकन कॉलोनी में रहते हैं। सीआरआई संवाददाता के साथ हुई बातचीत में उन्होंने बताया ,पहले चरागाह में अपने से गोबर इकट्ठा कर खाना पकाता था। अब घर में प्राकृतिक गैस उपलब्ध है, खाना बनाना बहुत आसान हो गया है। पहले चरागाह में अपने हाथों से कपड़ा धोना पड़ता था, अब बिजली होने से वॉशिंग मशीन का प्रयोग करते हैं। कितना सुविधाजनक है। इसके अलावा चरागाह में मुख्य खाना मांस था। अब अधिक सब्ज़ियां खा सकते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए अच्छी हैं।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी