शांगरी-ला का स्वप्न पूरा करने वाला सोनाम धूनद्रप

2017-11-27 10:00:00

सोनाम धूनद्रप

सोनाम धूनद्रप दक्षिणी चीन के यूननान प्रांत के पालागाजूंन क्षेत्र की पर्यटन कंपनी के निदेशक हैं जो प्रांत की शांगरी-ला काउंटी के पाला गांव में जन्म हुआ था । पाला गांव इस काउटी के सुनसान पहाड़ों में स्थित है । पहले बहुत सालों के लिए पाला गांव को बाहर के दुनिया के साथ जुड़ने का सिर्फ एक छोटा पहाड़ी मार्ग था । गांव से काउंटी नगर जाने के लिए तीन दिन का रास्ता नापना पड़ा । मार्ग और बिजली की आपूर्ति न होने की वजह से गांवासियों का जीवन बहुत मुश्किल था और गांवासियों को भी दूसरे यहां जाना पड़ा था ।

पाला गांव 3300 मीटर ऊंचे पहाड़ पर स्थित है जहां शांगरी-ला में सबसे सुन्दर बर्फ पर्वत और घाटी में साफ साफ नदियां बहती रहती हैं । अपने जन्म भूमि का परिचय देते हुए सोनाम ने कहा,“हमारे यहां ऊंचाई में बड़ा अंतर होने के कारण मौसम और वातावरण भी अलग अलग होते हैं । घाटी के अन्दर में जब उष्ण क्षेत्र के वृक्ष उगते हैं तब पहाड़ की चोटी पर बर्फ से ढ़की हुई है ।”

पालागाजूंन क्षेत्र का असाधारण प्राकृतिक दृश्य प्राप्त है । लेकिन रास्ता प्रशस्त नहीं होने के कारण यहां के तिब्बती लोग दीर्घकाल तक गरीबी से ग्रस्त रहे । गाववासियों को बाहर जाने के लिए एक मीटर चौड़े पहाड़ी मार्ग पर तीन दिनों के लिए रास्ता नापना पड़ता था । सोनाम ने कहा,“रास्ता प्रशस्त नहीं होने के कारण हमारे उत्पादों का बाहर तक पहुंचाना मुश्किल था और कुछ गांववासियों को अपने सेब पशुओं को खिलाना पड़ता था । परिवहन घोड़ों पर निर्भर होता था और गांव वासियों की आय भी बहुत निम्न रही थी ।”

सोनाम ने याद करते हुए कहा, जब मैं छोटा था , तब मुझे दुकान और सड़क जैसे कभी नहीं देखा । गांव में रहने वालों में अगर कोई बीमार हुए , तो अस्पताल में जाना भी असंभव था । सोनाम ने अपनी नौ साल होने की उम्र तक प्रथम बार शांगरी-ला काउंटी के नगर में गया और वहां उन्हों ने प्रथम बार मोटर गाड़ी देखा । तब उन के मन में ऐसा विचार आने लगा कि एक दिन अपने गांव के लोगों के लिए भी बाहर जाने का एक रास्ता निर्मित किया जाएगा ।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी