ल्हासा-न्यिंगची हाईवे प्रशस्त होने से तिब्बत का हाई स्पीड युग शुरू

2018-03-19 15:32:06

ल्हासा-न्यिंगची हाईवे प्रशस्त होने से तिब्बत का हाई स्पीड युग शुरू

बीते साठ सालों में चीन सरकार ने तिब्बत स्वायत्त प्रदेश में राज मार्ग के निर्माण में भारी निवेश लगाया। वर्ष 2013 में मेटोक राजमार्ग के प्रशस्त होने के बाद तिब्बत की सभी काउंटियों में राजमार्ग खोला गया। वर्ष 2016 के अंत तक तिब्बत में कुल 82 हजार लम्बा राजमार्ग निर्मित किया गया है जो वर्ष 2012 से एक तिहाई अधिक रहा। खासकर ल्हासा-न्यिंगची उच्च-ग्रेड राजमार्ग खोलने से तिब्बत को हाई स्पीड युग में दाखिल कराया गया है।

वर्ष 2017 में ल्हासा शहर से गूंगा हवाई अड्डे तक के विशेष मार्ग का निर्माण किया गया जिसे तिब्बत में पहला हाईवे माना जाता है। तिब्बत के यातायात विभाग के उप प्रधान चेन चाओ ने कहा कि तिब्बत में निर्मित हाईवे भीतरी इलाकों के हाईवे से अलग है यानी कि इस का आपातकालीन लेन अपेक्षाकृत संकीर्ण है। उन्हों ने परिच्य देते हुए कहा,“भीतरी इलाकों से यहां का हाईवे थोड़ा अलग है। इसी कारण इसे उच्च-ग्रेड राजमार्ग कहलाता है। 13वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान हम ने ल्हासा-न्यिंगची हाईवे का निर्माण शुरू किया। इस मार्ग का निर्माण करने का मापदंड देश में सबसे उन्नत है। इधर के वर्षों में तिब्बत के राजमार्ग निर्माण में मानकीकृत प्रबंधन व्यवस्था कायम की गयी है, अब तिब्बत में हाईवे की लम्बाई तीन सौ किलोमीटर तक जा पहुंची है।”

अभी तक ल्हासा-न्यिंगची हाईवे के पहले व दूसरे चरणों का परीक्षण समाप्त हो गया है। योजनानुसार वर्ष 2018 के अप्रैल तक मिलाशैन पर्वत को आर पार करने वाले सुरंग का निर्माण सितंबर में समाप्त किया जाएगा और इस के बाद इसी मार्ग का तमाम भाग प्रशस्त बनाया जाएगा। न्यिंगची क्षेत्र तिब्बत के दक्षिण पूर्वी भाग में स्थित है। ल्हासा-न्यिंगची हाईवे का निर्माण सछ्वान प्रांत से तिब्बत स्वायत्त प्रदेश जाने वाले नम्बर 318 राजमार्ग के पास किया जा रहा है। निर्माण का पहला चरण यानी ल्हासा-न्यिंगची भाग का निर्माण वर्ष 2015 में समाप्त किया गया। परियोजना के निदेशक सूंग श्यैन त्साई ने कहा,“ल्हासा-न्यिंगची हाईवे खोलने के इधर दो वर्षों में कोई दुर्घटना नहीं हुई। भीतरी इलाकों से तिब्बत जाने वाले पर्यटकों को यह मार्ग पसंद है। क्योंकि इसी मार्ग से तिब्बत जाने में अधिक सुविधाएं मिलती हैं और कम समय लगता है। पूरा मार्ग प्रशस्त होने के बाद ल्हासा से न्यिंगची जाने के लिए केवल पांच घंटे चाहिए। सरकार के संबंधित विभागों ने इस मार्ग के गति लिमिटेशन को 100 किलोमीटर प्रति घंटे तक तय किया है।”

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी