छोटी पहाड़ी गांव ल्यांग चा ह की हुई कायापलट

2018-05-09 11:32:01

छोटी पहाड़ी गांव ल्यांग चा ह की हुई कायापलट

पश्चिमी चीन के शैनशी प्रांत के येनएन शहर से गाड़ी से एक घंटे की यात्रा के बाद आप येनछुएन काउंटी के ल्यांग चा ह गांव पहुंच सकते हैं। समतल मार्ग के ज़रिये, ऊंचे ऊंचे पहाड़ों में बसा यह छोटा गांव बाहर की दुनिया से जुड़ता है ।यहां का दौरा करने वाले देसी विदेशी पर्यटक अक्सर आते जाते हैं। पहले ल्यांग चा ह एक बहुत गरीब गांव था ।बड़ी कोशिशों के बाद ल्यांग चा ह की शक्ल में कायापलट हुआ है ।अब यहां बहुमंजिली इमारतें ,पक्के मार्ग ,ब्रॉडबैंड , वाई फाई और कई आधुनिक चीजें सब उपलब्ध हैं ।

छोटी पहाड़ी गांव ल्यांग चा ह की हुई कायापलट

ल्यांग चा ह येनछुएन काउंटी के वेनएनयी कस्बे के दक्षिण-पूर्व में 5 किलोमीटर दूर बड़े पहाड़ में बसा है ।जनवरी 1969 में 16 वर्ष से कम उम्र वाले शी चिनफिंग (वर्तमान चीनी राष्ट्रपति) पेइचिंग से इस छोटे गांव में आ कर बसे थे। उस समय चीन में शहरी शिक्षित युआओं का अपार ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर शिक्षा और अभ्यास करने का अभियान चल रहा था ।इस गांव में शी चिनफिंग ने सात साल तक काम किया ।वे स्थानीय सीपीसी शाखा के सचिव बने थे ।इस दौरान उन्होंने गांव वासियों का नेतृत्व कर मार्ग और बाँध का निर्माण किया, कुएं खुदवाए, मीथेन गैस (methane)का विकास किया और गांव की स्थिति में बड़ा सुधार किया। इसकी याद करते हुए ल्यांग चा ह के वर्तमान सीपीसी शाखा के सचिव शी छुनयांग ने बताया ,हमारे गांव में शैनशी प्रांत में पहले मीथेन गैस टैंक का निर्माण किया गया था। उस साल शी चिनफिंग ल्यांग चा ह गांव की सीपीसी शाखा के सचिव थे। उन्होंने जन दैनिक अख़बार पर सछ्वांन प्रांत के ग्रामीण इलाके में मीथेन गैस का विकास करने की खबर पढ़ी। वे इस तकनीक को सीखने के लिए अपने खर्च से सछ्वांन प्रांत के मियान यांग क्षेत्र गए थे। सीखने के बाद उन्होंने गांव में मीथेन गैस टैंक का निर्माण शुरू किया। हमारे गांव में मीथेन गैस का प्रयोग सफल होने के बाद पूरी काउंटी में मीथेन गैस लोकप्रिय बनाने लगे ।जून 1975 में शैनशी प्रांत में व्यापक तौर पर मीथेन गैस का प्रयोग करने वाला पहला गांव तो हमारा ल्यांग चा ह है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी