शांगचंग में कृषि और पर्यटन का मेल

2018-05-16 16:41:05

शांगचंग में कृषि और पर्यटन का मेल

22 अप्रैल की सुबह मध्य चीन के हनान प्रांत के सबसे दक्षिण में स्थित शांगचंग काउंटी के ली लो चंग प्राकृतिक दृश्य क्षेत्र में भीड़ भाड़ नजर आ रही थी ।प्रथम शांगचंग धान रोपने के उत्सव का उद्घाटन समारोह आयोजित होने वाला था ।

ली लो चंग प्राकृतिक दृश्य क्षेत्र ऊंचे ऊंचे पहाड़ों के बीच स्थित है ।एक छोटी नदी घाटी में बहती है ।नदी के किनारे सीढीनुमा खेत हैं ।धान का पैधा लगाने का सब से अच्छा मौसम बदली या छोटी वर्षा है ।उस दिन मौसम ऐसा ही थी ।

संगीत घाटी में गूंज रहा था ।विभिन्न टोपियों को पहने हुए पर्यटक सभा स्थल पर भरे हुए हैं ।

मंच के पीछे सांस्कृतिक कार्यक्रम अंतिम तैयारी में थे ।तीसेक प्राइमरी स्कूल के छात्र रिहर्सल कर रहे थे ।कार्यक्रम पर जिम्मेदार अध्यापक ल्यू पिन ने बताया कि ये छात्र एक स्थानीय कला स्कूल के थे ।उन्होंने इस उत्सव के लिए विशेष तौर पर कार्यक्रम तैयार किया है ।उन्होंने बताया ,इस कार्यक्रम की हमारी शांगचंग काउंटी की विशेष शैली है ।पहले इस पर एक नृत्य था ।हम ने इसमें सुधार किया और बच्चे नाचेंगे ।

शांगचंग में कृषि और पर्यटन का मेल

समारोह स्थल पर अब खाली सीट नहीं थी ।आसपास कई लोग खड़े हुए थे ।सांस्कृतिक कार्यक्रम शुरू हुआ है ।एक वरिष्ठ पुरुष के नेतृत्व में बच्चे 24 सौरावधि की गीत सुना रहे थे ।

24 सौरावधि प्राचीन समय में मध्य चीन के लोगों ने मौसम और कृषि उत्पादन की स्थिति के अनुसार निर्धारित किये थे ।रोपना या फसल काटना किसी सौरावधि से जुड़ा है ।एक चंद्रवर्ष कुल 24 सौरावधियों में विभाजित है ।हर सौरावधि अधिक से अधिक 15 दिनों की होती है ।प्रत्येक सौरावधि जिस दिन आरंभ होती है ,उसी दिन सूर्य बारह राशियों में से किसी एक की प्रथम या पंद्रहवीं डिग्री में प्रवेश करता है ।प्रत्येक सौरावधि का अपना नाम होता है ,जो उस अवधि में प्रकृति में होने वाला उल्लेखनीय परिवर्तन का द्योतक होता है ।शांगचंग उत्तर और दक्षिण चीन के मौसम की विभाजन रेखा पर स्थित है ।यहां उत्तर और दक्षिण दोनों की विशेषता वाली कृषि संस्कृति पीढ़ी दर पीढ़ी संभलती है ।24 सौरावधि उन के जीवन से घनिष्ठ रूप से जुड़ती है ।

1234...>

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी