गरीबी उन्मूलन से गैनत्सी के विकास को बढ़ावा मिला

2018-05-28 16:32:01

सछ्वान प्रांत स्थित गैनत्सी तिब्बती स्वायत्त स्टेट में काउंटी स्तरीय वृद्धाश्रम वर्ष 2011 में स्थापित हुआ जहां चालीस से ज्यादा अकेले बूढ़े आदमी रहते हैं।

इस वृद्धाश्रम का सभी खर्च सरकार की तरफ से आता है। काउंटी सरकार प्रति वर्ष इस वृद्धाश्रम को छह लाख युवान देती है और इसके सिवा वृद्धाश्रम को अपने सहायक छंगतू शहर के लूंगछ्वानयी कस्बे से भी हर साल पाँच लाख युवान की सहायता मिलती है। बूढ़े आदमी प्रति दिन प्रार्थना व तिब्बती भाषा का अध्ययन करते हैं। शाम को इनके लिये व्यायाम और नृत्य जैसी गतिविधियों का आयोजन भी होता है।पिछले कुछ वर्षों में गैनत्सी स्वायत्त स्टेट की सरकार ने गरीब लोगों की मदद में भारी प्रयास किया है। सरकार ने पूंजी लगाकर सब्जी केन्द्र बनाने और होम होटल खोलने में गरीब किसानों की मदद की है। साथ ही स्थानीय लोगों को अपने तिब्बती विशेषता के अनुसार पर्यटन उद्योगों का विकास करने में भी सरकार की तरफ से खर्च दिया गया है। प्रति दिन दोपहरबाद वृद्धाश्रम में रहने वाले बुजुर्ग प्रार्थना करना शुरू करते हैं। वे अपनी मातृभूमि की समृद्धि के लिए पूजा करते हैं। आज इस वृद्धाश्रम में कुल चालीस बुजुर्ग रहते हैं जो सब 60 साल के ज्यादा उम्र वाले अकेले बूढ़े आदमी हैं। सरकार ने इन बूढ़ों के लिए जीवन और मनोरंजन की खूब शर्तें तैयार की हैं। बूढ़ों को अपने बुढ़ापे के जीवन के प्रति काफी संतोष लगता है। उन्होंने कहा,“हमारा जीवन अच्छा है, हर मौसम के कपड़े भी तैयार हैं, खानपान आदि सब अच्छे हैं। हमें बहुत खुशी होती है।”

इस वृद्धाश्रम की मैनेजर हू वेन ने कहा कि बूढ़ों के सुखमय जीवन को देखकर उन्हें भी बहुत खुशी हुई है। आशा है कि ये बूढ़े आदमी इस वृद्धाश्रम में खुशी से अपने बुढ़ापे का समय बिताएंगे। उन्हों ने कहा,“आशा है कि ये बूढ़े आदमी और अधिक मंगलमय महसूस कर सकेंगे। वे सब बहुत कठिन जीवन में से गुजर गये थे। उम्मीद है कि वे खुशी से यहां अपने बुढ़ापे का समय बिताएंगे ।”

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी