क्वई चो प्रांत ने छीशुई नदी की सुरक्षा के लिए कई कदम उठाए

2018-08-13 15:32:02

क्वई चो प्रांत ने छीशुई नदी की सुरक्षा के लिए कई कदम उठाए

छीशुई नदी चीन की सबसे लंबी नदी यांगत्सी नदी की एक शाखा है। उसका उद्गम स्थल दक्षिण-पश्चिमी चीन के युन्नान प्रांत का चनशुंग है। वह युन्नान ,क्वई चो और सछ्वांन तीन प्रांतों को पार करती है और अंत में सछ्वांग के हच्यांग में यांगत्सी नदी से मिल जाती है। छी शुई नदी के दोनों तटों पर कई हज़ार शराब बनाने के उद्योग बसे हुए हैं ,जो एक साल में कई खरब युआन लागत की शराब बनाते हैं। चीन की सबसे महशूर शराब माओ थाई तो वहीं बनाया जाता है। इसलिए छीशुई का पारिस्थितिकी मूल्य अनमोल है। इधर कुछ साल क्वई चो प्रांत ने छीशुई नदी की सुरक्षा के लिए सिलसिलेवार कदम उठाये हैं।

छीशुई नदी के तट पर स्थित माओ थाई ग्रुप को वहां के अच्छे पर्यावरण से बहुत लाभ मिल रहा है। वर्ष 1972 में तत्कालीन चीनी प्रधान मंत्री चो एनलाई ने आदेश दिया था कि माओथाई शराब कारखाने के पास पार करने वाली छीशुई नदी के ऊपरी भाग के 100 किलोमीटर के अंदर किसी भी रासायनिक कारखाने का निर्माण नहीं किया जा सकता। उस समय से आज तक छीशुई नदी की सुरक्षा निरंतर मज़बूत होती गई है। माओ थाई ग्रुप के बोर्ड अध्यक्ष ली पाओ फांग ने बताया कि अगर छीशुई नदी का अच्छा पर्यावरण नहीं होता तो चीन में माओ थाई शराब नहीं होती। यांगत्सी नदी आर्थिक पट्टी की पर्यावरण सुधार परियोनजा के बड़े लाभार्थी के रूप में माओ थाई ग्रुप पर्यावरण संरक्षण में बड़ी ज़िम्मेदारी उठाता है।

क्वई चो प्रांत ने छीशुई नदी की सुरक्षा के लिए कई कदम उठाए

उन्होंने बताया, इधर कुछ साल माओ थाई ग्रुप ने प्रदूषण की रोकथाम ,स्वच्छ उत्पादन ,ऊर्जा बचत ,चक्रीय अर्थव्यवस्था के विकास ,पर्यावरण हितैषी उद्यम के निर्माण जैसे पक्षों में सिलसिलेवार उपलब्धियां प्राप्त कीं।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी