तिब्बत के सीमांत क्षेत्रों में भी हीटिंग व्यवस्था कायम हुई है

2018-10-15 09:02:01

तिब्बत के सीमांत क्षेत्रों में भी हीटिंग व्यवस्था कायम हुई है

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के शाननान प्रिफेक्चर की त्सोना काउंटी 4400 मीटर ऊंचे पठार पर स्थित है। यहां का वार्षिक औसत तापमान शून्य से नीचे 0.6 डिग्री सेल्सियस है। और सबसे कम तापमान शून्य से 37 डिग्री सेल्सियस है। त्सोना काउंटी तिब्बत में सबसे ठंडा क्षेत्र माना जाता है। निवासियों को एक बेहतर जीवन वातावरण तैयार करने के लिए सरकार ने काउंटी नगर में हीटिंग व्यवस्था का निर्माण शुरू किया। अभी तक काउंटी में हीटिंग मकानों का क्षेत्रफल दो लाख 20 हजार वर्ग मीटर तक रहा है। सर्दियों में कमरे में तापमान 26 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है। तिब्बती पठार के विशेष वातावरण में लोगों को ऑक्सीजन की आपूर्ति करने के लिए स्थानीय सरकार ने अस्पताल, स्कूल और सार्वजनिक संस्थानों में 24 ऑक्सीजन स्टेशनों का निर्माण भी किया गया, जिससे लोगों के जीवन वातावरण में बहुत सुधार आया है।

त्सोना काउंटी के पुलिस थाने में कार्यरत थाशी नोर्बू ने कहा कि ठंडा मौसम की वजह से उन्हें ज्यादा कपड़े पहनना पड़ते थे। और गर्मियों के दिनों में भी मोटे मोटे जैकेट पहनना पड़ते थे। पूर्व में कमरे में गर्म बनाने के लिए कोयला या गोबर जलना पड़ता था। वर्ष 2017 में काउंटी नगर के निवासियों में हीटिंग व्यवस्था कायम होने लगी, हर वर्ष अक्टूबर से मई महीने तक हीटिंग की आपूर्ति उपलब्ध होती है। अब घर में गर्म और आरामदायक महसूस होता है। उन्हों ने कहा,“यहां सर्दियों या गर्मियों के दिनें में मौसम हमेशा ठंडा रहता था। हीटिंग व्यवस्था का निर्माण करने के बाद हमारा जीवन बहुत बदल गया है। त्सोना काउंटी के मकानों में तापमान शून्य से 20 डिग्री कम था, आज यह तापमान तीस डिग्री तक जा पहुंचता है। हम कमरे में टी-शर्ट पहनते हैं।”

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी