तिब्बती चिकित्सा की स्नान विधि गैर भौतिक सांस्कृतिक विरासतों की सूची में शामिल

2018-12-06 15:31:00

तिब्बती चिकित्सा की स्नान विधि गैर भौतिक सांस्कृतिक विरासतों की सूची में शामिल

28 नवंबर को चीनी संस्कृति और पर्यटन मंत्रालय ने जानकारी दी कि परंपरागत तिब्बती चिकित्सा की स्नान विधि---स्वास्थ्य और रोग की रोकथाम पर चीनी तिब्बती जाति के ज्ञान और अभ्यास युनेस्को की मानव गैर भौतिक सांस्कृतिक विरासतों की नाम सूची में शामिल करायी गयी है। इस तरह चीन में कुल 40 गैर भौतिक सांस्कृतिक विरासत युनेस्को की सूची में शामिल कराये जा चुके हैं।

युनेस्को गैर भौतिक सांस्कृतिक विरासतों की सुरक्षा पर अंतर सरकारी समिति की 13वीं बैठक 26 नवंबर से 1 दिसंबर तक मॉरिशस की राजधानी लुइज़ बंदरगाह में हुई। 28 नवंबर को समिति ने समीक्षा करने के बाद प्रस्ताव पारित कर चीन से निवेदित परंपरागत तिब्बती चिकित्सा की स्नान विधि को युनेस्को की नामसूची में शामिल कराया।

तिब्बती चिकित्सा की स्नान विधि गैर भौतिक सांस्कृतिक विरासतों की सूची में शामिल

तिब्बती चिकित्सा की स्नान विधि प्राकृतिक गरम झील या जड़ी बूटियों में उबाले गये पानी या भाप में स्नान करने से शारीरिक और मानसिक संतुलन का समायोजन कर स्वास्थ्य सुनिश्चित करने और रोग की रोकथाम का ज्ञान और अभ्यास है।

यह विरासत तिब्बत के स्थानीय धर्म बोन और तिब्बती बौद्ध धर्म से प्रभावित थी। वह तिब्बती जनता के जीवन की अवधारण से भी घनिष्ठ रूप से जुड़ी है। तिब्बत के परंरागत दर्शन में जीवन के पाँच स्रोत यानी धरती ,जल ,अग्नि ,आकाश और वायु हैं। वह एक तरफ तिब्बत में स्नान करने से रोग का इलाज और उसकी रोकथाम का अनुभव प्रतिबिंबित करता है और दूसरी तरफ पंरपरागत तिब्बती चिकित्सकीय सिद्धांतों का वर्तमान स्वास्थ्य कार्य में अभ्यास और विकास भी है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी