गैननान प्रीफेक्चर में पारिस्थितिकी और मानव का सामंजस्य विकास

2018-12-24 09:30:00

चीन के गैनसू प्रांत में स्थित गैननान तिब्बती स्वायत्त प्रिफेक्चर चीन के दस तिब्बती स्वायत्त प्रिफेक्चरों में से एक है। इस क्षेत्र को तिब्बती जाति और हान जाति के बीच सांस्कृतिक एकीकरण होने का क्षेत्र कहलाता है। गैननान क्षेत्र का क्षेत्रफल 45 हजार वर्ग किलोमीटर है और जनसंख्या 7.3 लाख तक जा पहुंची है। उनमें तिब्बती लोगों का अनुपात 54 प्रतिशत है। गैननान में तिब्बती के साथ हान, ह्वेई और मंगोलियाई समेत कुल 24 जातियां भी हैं। इधर के वर्षों में स्थानीय सरकार ने पारिस्थितिकी और मानव का सामंजस्य विकास करने के लिए भरसक कोशिश की है।

लाज़ैन गांव में रहने वाले राओसांग ने कहा,“पुननिर्माण करने से पहले हमारे मकान में पहली मंजिल पर पशुओं का पालतू करते थे और दूसरी मंजिल पर आदमी रहते थे। आज पशुओं और आदमियों को अलग अलग मकानों में विभाजित किया गया है, वातावरण स्वच्छ होने से हमारी शर्तों में बहुत सुधार आया है।” 

राओसांग ने जो बताया है, वह गैननान क्षेत्र में पारिस्थितिक सभ्यता का निर्माण करने का परीणाम है। लाज़ैन गांव एक अर्ध-पशुपालन और अर्ध-कृषि गांव था। जहां वर्ष 2016 में पारिस्थितिक सभ्यता का निर्माण शुरू किया गया था। निर्माण समाप्त करने के बाद गांव के वातावरण में सुधार आया और गांव वासियों का जीवन भी सुधर गया है। गैननान क्षेत्र में चीन की दो प्रमुख नदी पीली नदी और यांगत्सी नदी का जल स्रोत आपूर्ति क्षेत्र भी होता है। जल स्रोत का संरक्षण करने के लिए गैननान के 99 प्रतिशत क्षेत्र में औद्योगिक विकास करना मना है। वातावरण संरक्षण और आर्थिक विकास के बीच में संतुलन कायम करने के लिए स्थानीय सरकार ने वर्ष 2015 से पारिस्थितिकी सभ्यता गांव का निर्माण शुरू किया है। गैननान सरकार में इस काम के जिम्मेदार पदाधिकारी वांग ह्वेई शेंग ने कहा, “गैननान क्षेत्र में 70 प्रतिशत लोग देहातों में रहते हैं। पर इन क्षेत्रों में आर्थिक पिछड़ापन और गरीबी की समस्याएं मौजूद हैं। पारिस्थितिकी सभ्यता गांव का निर्माण करने से किसानों और चरवाहों के जीवन में सुधार हो जाएगा। और इस तरह आर्थिक विकास और पारिस्थितिकी दोनों की गारंटी की जाएगी।”

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी