जन जीवन में सुधार के प्रति सरकार की कार्य रिपोर्ट का उल्लेखन वास्तविक है

2019-03-25 14:33:00

राष्ट्रीय जन राजनीतिक सलाहकार सम्मेलन के सदस्य, तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की राजधानी ल्हासा शहर के उप मेयर गूंगद्राक छूवां ने 7 मार्च को संवाददाता से बातचीत में कहा कि सरकार की कार्य रिपोर्ट में जन जीवन में सुधार लाने का उल्लेखन वास्तविक है।उन्होंने कहा, “मैं अल्पसंख्यक जातीय क्षेत्र से आया हूं। आप भी जानते हैं कि इस साल की सरकार कार्य रिपोर्ट में कर की कटौती, शुल्क की कमी, चिकित्सा बीमा, उच्च रक्तचाप और मधुमेह के लिए चिकित्सा बीमा तथा कॉलेज छात्रों के रोजगार आदि के सवालों के प्रति जो उल्लेख किये गये हैं, वे सब वास्तविक हैं। रिपोर्ट को सदस्यों की तरफ से वाहवाही भी मिली है।”

गूंगद्राक ने सरकार की कार्य रिपोर्ट में गरीबी उन्मूलन, खासकर शिक्षा से गरीबी उन्मूलन करने के भाग पर विशेष ध्यान दिया है।उन्हों ने कहा,“मैं इस बात पर ज्यादा ध्यान देता हूं यानी कि अल्प संख्यक जातीय क्षेत्रों में गरीबी उन्मूलन को कैसे मजबूत किया जाएगा। सरकार की कार्य रिपोर्ट के मुताबिक शिक्षा और कॉलेज़ों में छात्रों की भर्ती के प्रति अल्पसंख्यक जातीय क्षेत्रों को विशेष नीति अपनायी जाती है। इन क्षेत्रों में शिक्षा के विकास से गरीबी उन्मूलन करवायी जा सकती है। अल्प संख्यक जातीयों के दूरस्थ क्षेत्रों के बच्चों को अगर उच्च शिक्षा दी जाए, तो उनसे गरीबी की निरंतरता को अवरुद्ध किया जाएगा। यह बहुत अच्छा कदम ही है।”

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के नागरिक मामले के विभाग के अनुसार इधर के वर्षों में तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों में बुनियादी भत्ता, अस्थायी सहायता और वृद्ध देखभाल सेवाओं में सुधार लाने आदि के कदमों से गरीबी को जड़ से हटाने वाले कदम उठाये गये हैं।

वर्ष 2018 के दिसंबर तक तिब्बत स्वायत्त प्रदेश में 1 लाख 71 हजार से अधिक व्यक्तियों को बुनियादी भत्ता प्राप्त हो चुकी है। सरकार ने बुनियादी भत्ता प्राप्त होने वाले परिवारों को उद्यम सहायता देने, स्थानांतरित करने और पारिस्थितिक संरक्षण की उत्तम नीतियां कायम की हैं। साथ ही तिब्बत में चिकित्सा सहायता, मूल चिकित्सा बीमा तथा प्रमुख बीमारी बीमा को मजबूत बनाया गया है। गत वर्ष में 1.3 लाख व्यक्तियों को सरकार की सहायता प्राप्त हुई है जो गरीबी से छुटकारा पाने में मददगार साबित है।

वर्ष 2018 के दिसंबर तक तिब्बत स्वायत्त प्रदेश में कुल 97 वृद्धाश्रम स्थापित हैं जिनके पास 11783 बिस्तर उपलब्ध हैं। प्रदेश में गरीब और विकलांग लोगों को भी सरकार की तरफ से सहायता दिलायी गयी है।

 

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी