तिब्बत स्वायत्त प्रदेश में वर्ष 2019 विदेश व्यापार का लक्ष्य निर्धारित

2019-04-03 15:02:00

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की सरकार की एक कार्य रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2018 में तिब्बत स्वायत्त प्रदेश की विदेश व्यापार रकम चार अरब अस्सी करोड़ युआन तक रही, उनमें सीमांत व्यापार की राशि 9 करोड़ 90 लाख युआन भी शामिल हुई। वर्ष 2018 से तिब्बत की स्थानीय सरकार ने विदेश व्यापार को बढ़ाने के लिए निर्यात क्रेडिट बीमा की स्थापना करने तथा सीमांत व्यापार कारोबारों की क्षमता को मजबूत करने आदि के कदम उठाये हैं।

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश को भारत और नेपाल के साथ सीमांत व्यापार करने की सुविधाएं हैं। अभी तक चीन और दक्षिणी एशियाई देशों के बीच सीमा पर भूलान, यादूंग, चांगमू और चीलूंग आदि कई बंदरगाह खोले गये हैं। वर्ष 2018 में तिब्बत स्वायत्त प्रदेश में 26 नये विदेशी कारोबार खोले गये हैं, विदेशी पूंजी की संख्या 44 करोड़ अमेरिकी डालर तक रही। सीमांत बंदरगाहों में उपकरणों के निर्माण को मजबूत करने के लिए चीन सरकार ने 18.7 करोड़ युआन की पूंजी लगायी और चीन व नेपाल के बीच उपकरणों के इंटरकनेक्शन के स्तर को भी उन्नत किया गया है। वर्ष 2018 में चीलूंग बंदरगाह के जरिये ही सीमांत व्यापार की रकम 3.4 अरब युआन तक रही, जो पिछले साल से 21.6 प्रतिशत अधिक रही। चीलूंग बंदरगाह चीन और नेपाल के बीच सीमांत व्यापार करने का प्रमुख बंदरगाह है। जहां से नेपाल की राजधानी काठमांडू तक 131 किलोमीटर की दूरी होती है। वर्ष 2017 में चीन सरकार ने इसे एक अंतर्राष्ट्रीय बंदरगाह के रूप में खोलने का फैसला किया। अभी तक चीलूंग बंदरगाह में 26 व्यापार कारोबार, 7 कस्टम क्लीयरेंस कंपनी, 7 रसद कंपनी और दो वित्तीय कंपनी स्थापित की गयी हैं। वर्ष 2018 में चीलूंग बंदरगाह में लगाये गये निवेश की संख्या 36 करोड़ युआन तक रही।

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के अध्यक्ष चिज़ाला ने अपनी कार्य रिपोर्ट में कहा कि तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के खुलेपन का और अधिक विस्तार किया जाएगा। और सीमांत बंदरगाहों की कार्य क्षमता में भी सुधार किया जाएगा। वर्ष 2019 में तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के विदेश व्यापार में दस प्रतिशत और सीमांत व्यापार में तीस प्रतिशत की वृद्धि करने का लक्ष्य भी तय किया गया है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी