शिगात्से में राजधानी से आये डॉक्टरों का प्यार

2019-06-10 15:01:01

शिगात्से तिब्बत स्वायत्त प्रदेश का एक महत्वपूर्ण शहर है, जो जूमूलांगमा यानी एवेरेस्ट पर्वत के नजदीक स्थित है। शिगात्से शहर के अधीन यातूंग, चांगमू और चीलूंग तीन सीमांत बंदरगाह भी हैं। सीमांत व्यापार से विकास से तिब्बत के आर्थिक विकास को बढ़ावा मिला है। पर चार हजार मीटर ऊंचे पठार पर रहने वाले लोग अक्सर गंभीर रोगों से ग्रस्त होते रहे हैं।

खराब प्राकृतिक वातावरण की वजह से शिगात्से क्षेत्र में रहने के बहुत से लोग गठिया और गर्दन स्पोंडिलोसिस जैसी पुरानी बीमारियों से ग्रस्त होते रहे हैं। लेकिन इस क्षेत्र में लिमिटेड स्थिति के कारण बहुत से बीमार अस्पताल में इलाज लेने के लिए असमर्थ हैं। तिब्बती लोगों की मदद के लिए राजधानी पेइचिंग के अनेक अस्पतालों के तीन सौ से अधिक डॉक्टरों ने तिब्बती पठार में "साथ साथ चाइना हार्ट" शीर्षक अभियान शुरू किया। उन्होंने शिगात्से सहित अनेक क्षेत्रों में बीमार लोगों का निशुल्क इलाज किया। पेइचिंग यूनिवर्सिटी के इंटरनेशनल हॉस्पिटल के यूरोलोजि विभाग के डॉक्टर ली ह्वेई ने बताया,“हमारा यह मिशन ग्यारह सालों के लिए चल रहा है। हमें भी आशा है कि स्थानीय लोगों की जरूरतों के अनुसार कुछ ठोस काम किया जाएगा। हमें सावधानी और गहराई से काम करना पड़ेगा और इससे और अधिक सकारात्मक प्रभाव संपन्न हो जाएगा।”

शिगात्से शहर में स्थापित एक वृद्धाश्रम में डॉक्टर ली ने अपने सहपाठियों के साथ बूढ़ों का निशुल्क इलाज किया और उन्हें मुफ्त दवाइयां तैयार कीं। इस वृद्धाश्रम में रहने वाले 68 वर्षीय बूढ़े ली जू श्वून ने कहा,“हम डॉक्टरों और विशेषज्ञों को बहुत आभारी हैं। उन्हों ने हमारी समस्याओं और चिन्ताओं को दूर किया है। पार्टी और सरकार के नेताओं ने वृद्धाश्रम पर ध्यान रख दिया है, जिससे हमें बहुत खुशी हुई है।”

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी