तिब्बत में शिक्षा कार्यों का ऐतिहासिक विकास

2019-06-26 16:01:02

लोगों की यह सर्वसम्मिति है कि तिब्बत के विकास में शिक्षा आधार की स्थापना करना सबसे महत्वपूर्ण है। लोकतांत्रिक रुपांतर होने से अभी तक के साठ सालों में शिक्षा कार्यों का उल्लेखनीय विकास हो पाया है। इधर के वर्षों में ल्हासा शहर ने शिक्षा के विकास में भारी निवेश लगाया और विभिन्न जातियों के छात्रों को "15 साल निःशुल्क शिक्षा" से व्यवहार कायम किया गया है। नये शिक्षा नगर का निर्माण करने से पुराने नगर में शिक्षा संसाधन के अभाव और कम गुणवत्ता की समस्याओं को हल किया गया है। इसके साथ देश की राजधानी पेइचिंग शहर और च्यांगसू प्रांत समेत भीतरी इलाकों की सहायता से बहुत से तिब्बती छात्रों को उच्च गुणवत्ता की शिक्षा दी जा सकती है। उदाहरण के लिए ल्हासा शहर के शिक्षा नगर में स्थापित च्यांगसू प्रायोगिक मिडिल स्कूल च्यांगसू प्रांत की सहायता में स्थापित है। च्यांगसू प्रांत से आये अध्यापक वांग छी मींग ल्हासा में चार सालों के लिये काम कर चुके हैं। पठार की स्थितियों से आदत नहीं लगने के कारण वांग छी मींग को जीवन में बहुत कठिनाइयां हुई। और काम करते हुए उन्हें यह भी लगा कि तिब्बती छात्रों की नींव भी कमजोर थी। स्थानीय छात्रों की मदद के लिए वांग ने अपने शिक्षण के मोड में सुधार किया। छात्रों की अध्ययन करने की सक्रियता को उजागर करने के लिए वांग छी मींग ने प्रोत्साहन व्यवस्था भी स्थापित की। स्थानीय छात्रों ने वांग की शिक्षण स्टाइल की भुरि भुरि प्रशंसा करते हुए कहा कि मिस्टर वांग का क्लासरूम बहुत ज्ञानी और सक्रिय होता है। वांग ने भीतरी इलाके में प्राप्त अनुभव का प्रसार किया और उन के प्रयास से स्थानीय छात्रों के स्तर को बहुत उन्नत किया गया है। इस मिडिल स्कूल में वांग के अलावा और कई अध्यापक भीतरी इलाके से आये हैं। उन्हों ने कहा कि छात्रों को पढ़ाने के साथ साथ वे स्थानीय अध्यापकों को भी उन्नतिशील अनुभव का परिचय देते रहते हैं। उन का उद्देश्य है कि तिब्बत में वरिष्ठ अध्यापक दल की स्थापना की जाएगी।

1234...>

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी