बाल-महिला स्पेशल

फ़्रोज़न
-2017-06-24 13:57June 27 2017 18:32:21

फ़्रोज़न

वर्ष 2013 में डिस्नी कंपनी ने अपनी स्थापना की 90वीं वर्षगांठ पर यह 3डी कार्टून फ़िल्म बनायी। इस फ़िल्म की कहानी एंडरसन की परियों की कहानियों से चुनी गयी।

अंतर्राष्ट्रीय बाल चित्र प्रदर्शनी टोलुन में आयोजित
-2017-06-16 17:19June 27 2017 18:32:21

अंतर्राष्ट्रीय बाल चित्र प्रदर्शनी टोलुन में आयोजित

दोस्तो, स्थानीय समयानुसार 27 मई को चीन के हूपेई प्रांत व पोलैंड के खुजावस्को के सहयोग से आयोजित सपने उड़ाओ नामक अंतर्राष्ट्रीय बाल चित्र प्रदर्शनी पोलैंड के उत्तर-मध्य शहर में धूमधाम से उद्घाटित हुई। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के हूपेई प्रांत के प्रसार-प्रचार विभाग के उपाध्यक्ष क्वो चुंग, पोलैंड के खुजावस्को प्रांत के अंतर्राष्ट्रीय सहयोग विभाग के अध्यक्ष सिलविया तुबिएलेविज़ ओलेजनिक, हूपेइ प्रांत के प्रेस रेडियो व टीवी ब्यूरो के प्रधान च्यांग ल्यांगछन, हूपेइ प्रांत के संस्कृति ब्यूरो के उपाध्यक्ष ली याओह्वा तथा प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों, मीडियों व चित्रकारों समेत कुल 200 लोगों ने इस चित्र प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह में भाग लिया।

पोलैंड के छात्रों ने चीनी संस्कृति को महसूस किया
-2017-06-08 16:02June 27 2017 18:32:21

पोलैंड के छात्रों ने चीनी संस्कृति को महसूस किया

बाल दिवस की खुशी मनाने के लिये पोलैंड के वरोक्लाव विश्वविद्यालय के कंफ्यूशियस कॉलेज के अध्यापकों व चीनी स्वयंसेवकों ने 1 जून को वरोक्लाव शहर के उपनगर में स्थित प्रुसिस प्राइमरी स्कूल में चीनी संस्कृति का अनुभव करने की गतिविधि का आयोजन किया।

नाटक राजा लीएर बाल कला थिएटर में प्रस्तुत
-2017-05-29 15:40June 27 2017 18:32:21

नाटक राजा लीएर बाल कला थिएटर में प्रस्तुत

चीनी बाल कला थिएटर ने हाल ही में बाल दिवस का स्वागत करने के लिये एक विशेष लोकोपकार कार्यक्रम प्रस्तुत किया। पेइचिंग में रह रहे कुछ प्रवासी मजदूरों के बच्चों ने बाल कला थिएटर में प्रस्तुत शेक्सपियर के मशहूर नाटक राजा लीएर को देखा।

चीन में अकेले बच्चों की रक्षा के लिये कदम
-2017-05-25 16:04June 27 2017 18:32:21

चीन में अकेले बच्चों की रक्षा के लिये कदम

चीनी नागरिक मामला मंत्रालय द्वारा हाल ही में जारी आंकड़ों के अनुसार वर्तमान में चीन के ग्रामीण क्षेत्रों में उन बच्चों की संख्या 90.2 लाख है, जिनके मां-बाप काम करने के लिये अन्य शहरों में गये। उनमें 90 प्रतिशत लोग चीन के मध्य व पश्चिमी प्रांतों में रहते हैं।

आठ बुरी आदतों से बन सकते हैं बच्चे मंदबुद्धि
-2017-05-19 11:39June 27 2017 18:32:21

आठ बुरी आदतों से बन सकते हैं बच्चे मंदबुद्धि

दोस्तों, हर मां-बाप को आशा होती है कि उनके बच्चे बुद्धिमान बनेंगे। एक मंदबुद्धि बच्चा किसी को नहीं चाहिये। लेकिन वास्तविक जीवन में बहुत से मां-बाप अपनी लापरवाहियों से अपने बच्चों को मंदबुद्धि बना रहे हैं। याद रखें, अब जो आठ बुरी आदतों के बारे में बताया जा रहा है, उससे बच्चे दिन-ब-दिन मंदबुद्धि बन रहे हैं। इसका सुधार किया जाना चाहिए।

बच्चों के स्वास्थ्य पर पर्यावरण का असर
-2017-05-10 14:58June 27 2017 18:32:21

बच्चों के स्वास्थ्य पर पर्यावरण का असर

प्रिय दोस्तो, हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जिनेवा में पर्यावरण व बच्चों के स्वास्थ्य से जुड़ी दो रिपोर्ट जारी की। रिपोर्ट के अनुसार ख़राब पर्यावरण की वजह से हर साल विश्व के 17 लाख पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों की मौत हुई है। रिपोर्ट में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से एक साथ कार्रवाई करके बच्चों के लिये एक अनवरत विकास वाली दुनिया बनाने की अपील की गयी।

मध्य प्रदेश में कुपोषण का काल- तीसरा भाग
-2017-05-05 18:39June 27 2017 18:32:21

मध्य प्रदेश में कुपोषण का काल- तीसरा भाग

पिछले दिनों आयकर विभाग ने प्रदेश में पोषण आहार वितरित करने वाली कम्पनियों के ठिकानों और मध्यप्रदेश सरकार के कुछ आला अफसरों के यहां छापे मार कर गड़बडियां पकड़ी थीं। आयकर विभाग ने काले धन को सफेद बनाने के लिए कई फर्जी कम्पनी बनाये जाने का अंदेशा जताया।

मध्य प्रदेश में कुपोषण का काल- दूसरा भाग
-2017-04-27 17:24June 27 2017 18:32:21

मध्य प्रदेश में कुपोषण का काल- दूसरा भाग

मध्यप्रदेश के आदिवासी क्षेत्रों में बच्चों को कुपोषण और विकास संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। गरीबी इसका मूल कारण है, उनके आहार में दुग्ध उत्पादों, फलों और सब्जियों की मात्रा ना के बराबर होती है और केवल 20 फीसदी आदिवासी परिवारों में स्वच्छ पेयजल की सुविधा है।

मध्य प्रदेश में कुपोषण का काल- पहला भाग
-2017-04-21 20:21June 27 2017 18:32:21

मध्य प्रदेश में कुपोषण का काल- पहला भाग

विदिशा के जिला अस्पताल में भर्ती एक साल के नन्हे सुरेश के शरीर से जब ब्लड सैंपल लेने की जरूरत पड़ी तो उसकी रगों से दो बूंद खून निकालने के लिए भी डाक्टरों को बहुत मुश्किल पेश आयी। दरअसल गंभीर रूप से कुपोषित होने की वजह से उसका वजन मात्र 3 किलो 900 ग्राम ही था जबकि एक साल के किसी सामान्य बच्चे का औसत वजन 10 किलो होना चाहिए।

कैलेंडर

न्यूज़:
व्यापार पर्यटन फ़ैशन खेल एक्सपर्ट राय
व्यापार:
ख़बर व्यक्ति चीन का मार्किट चीन में निवेश
पर्यटन:
चीन की सैर पर्यटन जानकारी लोकप्रिय फोटो भारत दर्पण बलॉग चीनी भाषा सीखें
बाल-महिला स्पेशल
विश्व का आईना
चीनी भाषा सीखें:
वीडियो वीडियो
फोटो गैलरी:
चीन भारत दुनिया पर्यटन फ़ैशन शो