डेनिश टेनिस खिलाड़ी कैरोलिन वोज़्नियाकी ने रचा इतिहास

2018-02-01 15:04:01

दोस्तो, स्थानीय समय के अनुसार 27 जनवरी की रात को वर्ष 2018 ऑस्ट्रेलियन ओपन के महिला एकल के फाइनल में विश्व में दूसरे नंबर की  डेनमार्क की टेनिस प्लेयर कैरोलिन वोज़्नियाकी ने 2-1 से रोमानिया की सिमोना हेलप को हराकर खिताब जीता। यह उनके करियर का पहला ग्रैंड स्लैम है। इसके साथ ही महिला सिंगल्स की रैंकिंग में नंबर एक पर काबिज़ हो चुकी हैं।

एक विश्व स्तरीय व्यावसायिक टेनिस खिलाड़ी के रूप में अगर ग्रैंड स्लैम नहीं जीता, तो वैसा ही होगा कि प्रसिद्ध पर्वतारोही माउंट एवेरेस्ट पर नहीं चढ़ा, और फुटबाल खिलाड़ी विश्व कप में शामिल नहीं हुआ। इसलिये जब वोज़्नियाकी व हेलप इस बार के ऑस्ट्रेलिया ओपन में कड़े संघर्ष के बाद अंत में रोद लावर टेनिस कोर्ट में खड़ी हुईं, तो सभी लोग उनकी इच्छा को महसूस कर सकते थे। दोनों ने तीसरी बार ग्रैंड स्लैम के फ़ाइनल में प्रवेश किया। इस बार के ऑस्ट्रेलिया ओपन में दोनों ने मैच प्वाइंट्स बचाए। इससे जाहिर होता है कि दोनों की मानसिक गुणवत्ता बहुत अच्छी है। और दोनों ने फ़ाइनल अपने नाम करने का वादा किया। इसलिये मैच के शुरू से ही बहुत तीव्र प्रतिस्पर्धा हुई।

क्योंकि सेमीफ़ाइनल में जर्मन प्रसिद्ध खिलाड़ी अंगेलिखे केरबेर के साथ खेलते समय हेलप ने खूब शारीरिक शक्ति का प्रयोग किया। इसलिये फ़ाइनल में हेलप धीमी से अच्छी स्थिति में पहुंची। वोज़्नियाकी ने सबसे पहले 3:0 की बढ़त हासिल की। इस के बाद हेलप ने कोशिश करके 6:6 की स्कोर प्राप्त की। पर अंत के टाईब्रेक में वोज़्नियाकी ने 7:2 से जीत हासिल हुई। दूसरा गेम हेलप ने 6:3 से जीता। और फ़ाइनल गेम में हेलप की शारीरिक शक्ति गिर पड़ी और टखने की चोट से ग्रस्त होने के कारण वे हार गयी। वोज़्नियाकी ने मुश्किल से 6:4 के स्कोर से मैच जीता। उन्होंने फ़ाइनल प्रतियोगिता के दो घंटे 49 मिनट में सफलता से डेनमार्क की परी कथा रची।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी