युवक पेई डाशी का पेइचिंग ओपेरा सपना

2018-07-19 15:33:03

हर शनिवार की सुबह छह बजे 12 वर्षीय पेई डाशी घर से निकलकर अकेले भूमिगत रेल द्वारा आधे पेइचिंग शहर गुजरकर पेइचिंग ओपेरा प्रशिक्षण कक्षा में जाकर शिक्षा लेते हैं। चार घंटों के प्रशिक्षण के बाद वे फिर अकेले से भूमिगत रेल द्वारा घर वापस लौटते हैं। लगातार दो साल तक उन्होंने ऐसा किया।

डाशी का जन्म पेइचिंग ओपेरा परिवार में हुआ। उनके पिता जी के दादा जी एक प्रसिद्ध पेइचिंग ओपेरा अभिनेता थे। उन के पिता जी के भाई पेइचिंग ओपेरा के पेशेवर संगीतकार हैं। उन की दादी जी वर्तमान की प्रसिद्ध पेइचिंग ओपेरा अभिनेत्री हैं। बचपन में डाशी अकसर दादी जी के साथ थिएटर में गये और अभिनेताओं की तरह तलवार खेलते थे।

दादी ने कहा कि बचपन में वह अकसर मेरे साथ ऐसा खेलता था कि पेचिंग ओपेरा के एक्शन से वह खेलता था। कभी कभार वह ओपेरा अभिनेता की तरह तलवार भी खेलता था।

हालांकि पेई डाशी को छोटी उम्र में तो पेइचिंग ओपेरा पसंद है। लेकिन उनके परिजन नहीं चाहते थे कि वे गाने गाए। क्योंकि डाशी जन्म से क्लेफ्ट होंठ और तालुआ से पीड़ित थे। हालांकि बाद में ऑपरेशन किया गया, लेकिन परिजनों को इस बात की चिंता थी कि उन का मुंह पेइचिंग ओपेरा के अभिनेता की मांग से मेल नहीं खाता है। और ओपेरा प्रदर्शन करते समय असर भी पड़ेगा। स्कूल के चौथे साल में डाशी ने एक ओपेरा ग्रीष्मकालीन शिविर में भाग लिया। इस यात्रा से डाशी ने पेइचिंग ओपेरा से प्यार करना शुरू किया। साथ ही उन्होंने अपनी प्रतिभा भी दिखायी। इस से पहले डाशी को कोई व्यावसायिक प्रशिक्षण नहीं मिला, लेकिन वे सही तरीके से पेइचिंग ओपेरा के संगीत को समझ सकते हैं। इस की चर्चा में डाशी के पिता जी ने कहा,डाशी को किताब में लिखी चीजें बड़ी मुश्किल से याद होती हैं। लेकिन वे बहुत जल्द ही ओपेरा के शब्दों को याद कर सकते हैं। केवल दो बार सुनने के बाद वह सभी चीजें याद कर सकते हैं। हम बहुत खुश थे कि उन्हें शायद एक पेइचिंग ओपेरा के अभिनेता बनना चाहिये।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी