दूसरा यूरोप-एशिया महिला मंच सेंट पीटर्सबर्ग में आयोजित

2018-09-28 10:34:00

20 से 21 सितंबर तक दूसरा यूरोप-एशिया महिला मंच रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में आयोजित हुआ। मंच का मुद्दा था विश्व सुरक्षा व अनवरत विकास में महिलाओं की कोशिश। 100 से अधिक देशों के राजनीतिज्ञों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, विद्वानों के अलावा उद्यमों के लगभग 2000 प्रतिनिधियों ने इस में भाग लिया। उन्होंने विश्व सुरक्षा की सुनिश्चितता, सृजन में सहयोग, डिजिटल अर्थव्यवस्था का विकास, लोकोपकार व मानवीय कार्यक्रम को बढ़ावा देने आदि क्षेत्रों में महिलाओं की भूमिका पर व्यापक रूप से विचार-विमर्श किया।

20 सितंबर को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने यूरोप-एशिया महिला मंच में भाग लिया और भाषण भी दिया। उन्होंने कहा कि वर्तमान की जटिल अंतर्राष्ट्रीय स्थिति में महिलाओं ने बहुत क्षेत्रों में अपनी अभूतपूर्व क्षमता दिखायी, और वे शांति व सुरक्षा के पक्ष में ज्यादा से ज्यादा महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रही हैं। संयुक्त राष्ट्र संघ, अंतर्राष्ट्रीय संगठनों, तथा विभिन्न देशों के विधिनिर्माण व कानून के कार्यान्वयन विभागों में तमाम महिलाएं, महिला उद्यमी, महिला वैज्ञानिक, व विभिन्न व्यवसायों की श्रेष्ठ महिलाएं सक्रिय रूप से अपना काम कर रही हैं। पुतिन ने कहा,ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को सफलता मिलने पर विश्व व देश ज्यादा से ज्यादा बेहतर बन सकेंगे। जिससे हम राष्ट्रीय निहित शक्ति को मजबूत कर, विश्व यहां तक कि पूरी सभ्यता के निरंतर विकास हासिल कर सकेंगे।

पुतिन ने जोर देकर कहा कि लैंगिक असमानता को दूर करना होगा। साथ ही महिलाओं के प्रति व्यावसायिक भेदभाव को समाप्त करने की ज़रूरत भी है। इस लक्ष्य को पूरा करने के लिये बच्चियों को लड़कों की तरह शिक्षा के समान मौके देने होंगे, महिलाओं को रोजगार पाने या नये धंधे खोलने में मदद देनी चाहिये, महिलाओं को ज्यादा स्वतंत्रता मिलनी चाहिये, और महिलाओं को कारगर सामाजिक व कानूनी सुनिश्चितता देनी चाहिये। वैज्ञानिक व तकनीकी विकास से महिलाओं को नये मौके मिल सकें। वे घर के काम करने के अवकाश में दूरस्थ शिक्षा भी ले सकती हैं। वे अपने साझेदारों के साथ नये धंधे खोलती हैं, और खूब सफलता प्राप्त कर सकती हैं। यहां तक कि कुछ महिलाएं पुरुषों के लिए आदर्श भी बन चुकी हैं।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी