चीन : बाजार और उद्योगों में जान फूंकना अति आवश्यक

2021-05-15 22:31:00

इस साल के शुरुआती महीनों में, विश्व व्यापार संगठन ने अनुमान लगाया था कि कोविड-19 महामारी के कारण इस साल (साल 2020) वैश्विक व्यापार की मात्रा में 32 प्रतिशत तक की भारी गिरावट आ सकती है।

अब जब यह साल खत्म होने जा रहा है, तो यह स्पष्ट है कि वैश्विक व्यापार की मात्रा में गिरावट आई है, लेकिन भारी रूप से गिरावट देखने को नहीं मिली। इसकी मुख्य वजह है कि लगभग सभी देशों ने अपने व्यापार मात्रा की ऊंची फीसदी के लिए चीन से आयात देखा है।

दरअसल, चीन के साथ विदेशी व्यापार में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है जबकि शेष विश्व में गिरावट आई है, वो इसलिए कि चीन ने कोरोना वायरस महामारी पर सफलतापूर्वक काबू पा लिया है और उत्पादन बहाल करने में सक्षम रहा है। ऐसा माना गया है कि साल 2020 में चीन का कुल निर्यात दुनिया के कुल निर्यात का 12 प्रतिशत से अधिक हो सकता है, और आयात भी ऐतिहासिक रूप से ऊंचा हो सकता है।

बेशक, लंबे समय में बाहरी दुनिया के साथ चीन का व्यापार अभी भी दबावों का सामना कर रहा है। कई सालों से घरेलू श्रम-गहन उद्योगों के निर्यात में गिरावट आई है, जिसके चलते देश पर अर्थव्यवस्था की संरचना को आगे बढ़ाने और अपने उद्योगों को अपग्रेड करने का दबाव बना हुआ है। लंबे समय में चीन के विदेशी व्यापार को स्थिर करने के लिए, बाजार और उद्योगों में जान फूंकना अति आवश्यक है।

बाजार के लिए, "दोहरे चक्र" पैटर्न के गठन में तेजी लाना जरूरी है, वो इसलिए कि घरेलू बाजार को बाहरी बाजारों द्वारा एक पूरक मुख्य आधार बनाया जाए। वैसे भी, टैरिफ को कम करने, खुलापन का विस्तार करने और व्यावसायिक वातावरण का अनुकूलन करने जैसे चल रहे उपाय इस संबंध में मदद कर रहे हैं। जबकि उद्योगों के लिए, घरेलू उद्योगों की प्रतिस्पर्धा को बढ़ाना और नवाचार को बढ़ावा देना अति महत्वपूर्ण है ताकि घरेलू उद्योगों को विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनाया जा सके।

इन सबको ध्यान में रखते हुए, चीन की घरेलू नीतियां अनुसंधान एवं विकास को प्रोत्साहित कर रही हैं और महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकियों के विकास को बढ़ावा दे रही हैं, ताकि चीन के विदेशी व्यापार की कुल प्रतिस्पर्धा को और तेज किया जा सके।

(अखिल पाराशर, चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी